देशवीडियो

अलीगढ़- खैर में हटवाया गया अवैध कब्जा

प्राथमिक विद्यालय की जमीन से हटवाया अवैध कब्जा

अलीगढ़ खैर तहसील क्षेत्र के गांव कुंज गढ़ी पलावीरान के सरकारी जमीन के खाद के गड्ढों पर गांव के ही कुछ दबंग लोगों द्वारा कब्जा करते हुए अवैध निर्माण स्थापित कर लिए गए थे जिसके बाद मौजूदा ग्राम प्रधानपति संजय की शिकायत पर एसडीएम खैर कुंवर बहादुर सिंह के ग्राम प्रधानपति की शिकायत पर संज्ञान लेते हुए तहसीलदार खैर हीरालाल सैनी को राजस्व विभाग की टीम के नेतृत्व में चकबंदी के दौरान गांव के अंदर छोड़े गए खाद के गड्ढों तक ग्रामीणों द्वारा किए गए अवैध कब्जे को ध्वस्त कराने के निर्देश दिए गए थे जिसके बाद तहसीलदार हीरालाल सैनी ने राजस्व विभाग की टीम के साथ मिलकर जेसीबी से गांव के अंदर दबंगों द्वारा सरकारी जमीन पर किए गए कब्जे को ध्वस्त कराया गया था। ग्राम समाज की सरकारी जमीन पर तहसील प्रशासन द्वारा की गई कार्यवाही से नाराज होकर दबंगों ने मौजूदा ग्राम प्रधानपति संजय शर्मा के ऊपर जानलेवा हमला कर दिया गया दबंगों द्वारा गांव के अंदर मौजूदा ग्राम प्रधानपति संजय शर्मा के ऊपर किए गए हमले के बाद ग्राम प्रधानपति मारपीट करने वाले दबंगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के लिए कोतवाली खेर पहुंच गया जिसके बाद उसके साथ मारपीट गांव के ही दबंग अधिवक्ता और अन्य लोगों के खिलाफ पुलिस को मुकदमा दर्ज करने के लिए लिखित में थाने पहुंचकर तहरीर दी गई। पुलिस ने पीड़ित प्रधानपति संजय शर्मा की तहरीर पर आरोपियों के खिलाफ जांच कर कार्रवाई शुरू कर दी गई तो वही मारपीट में घायल हुए संजय शर्मा को मेडिकल परीक्षण के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर भेजा गया। मारपीट में घायल मौजूदा ग्राम प्रधानपति संजय शर्मा ने बताया कि गांव के अंदर शासन स्तर से कई योजनाओं के लिए पैसा आया हुआ है। इस पैसे को खर्च करने के लिए गांव के अंदर जमीन की जरूरत थी। ग्राम प्रधानपति का आरोप है कि गांव के अंदर राजस्व विभाग के अभिलेखों में दर्ज प्राथमिक स्कूल की सरकारी जमीन पर गांव के ही कुछ दबंग लोगों के द्वारा अवैध निर्माण पर अपना कब्जा जमा लिया था। जिस सरकारी जमीन को खाली कराए जाने उसके द्वारा एसडीएम खैर कुंवर बहादुर सिंह से शिकायत की गई थी। उसकी शिकायत पर एसडीएम खैर ने संज्ञान लेते हुए तहसीलदार हीरालाल सैनी और राजस्व विभाग की टीम को सरकारी जमीन से अवैध कब्जा हटाए जाने को लेकर निर्देशित किया था। एसडीएम के निर्देश पर राजस्व विभाग की टीम सरकारी जमीन पर किए गए अवैध कब्जे को हटाने के लिए जेसीबी मशीन लेकर 21 मार्च को मौके पर पहुंची थी। जिसके बाद राजस्व विभाग की टीम और पुलिस बल ने मौके पर मौजूद रहकर सरकारी जमीन से कब्जे को ध्वस्त करते हुए कब्जा मुक्त कराया गया था। आरोप है कि इस दौरान अवैध कब्जा ध्वस्त कराने को लेकर अधिवक्ता समेत कुछ लोगों ने राजस्व विभाग की टीम को उसके ऊपर सरकारी काम में बाधा डालते हुए हमला कर दिया। ग्राम प्रधानपति का आरोप है कि राजस्व विभाग की टीम द्वारा सरकारी जमीन से अवैध कब्जा हटाए जाने के बाद उस जमीन पर पुनः दबंगों द्वारा अपना कब्जा जमाते हुए अपने पशुओं को बांध गया हैं।

पीड़ित ग्राम प्रधानपति संजय शर्मा का कहना है कि उसके द्वारा ग्राम समाज की जमीन पर कब्जा मुक्त होने के बाद जबरन कब्जा करने वाले दबंग लोगों के खिलाफ पुलिस को मुकदमा दर्ज करने के लिए लिखित में तहरीर दी गई है। पुलिस को लिखित में दी गई तहरीर में उसने सरकारी जमीन पर अवैध कब्जा करने वाले लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग की गई है तो वहीं दबंगों के चुंगल से सरकारी जमीन पर किए गए अवैध कब्जे को कब्जा मुक्त करने की गुहार लगाई गई है उसका कहना है कि सरकारी जमीन को कब्जा मुक्त कराया जाए जिससे कि वह शासन स्तर से योजनाओं के लिए आए हुए पैसे को सरकारी जमीन पर खर्च कर उस पैसे का सदुपयोग कर सकें।

बाइट-ग्राम प्रधान पति संजय शर्मा

 

खैर/अलीगढ़ रिपोर्टर लक्ष्मन सिंह राघव एपेक्स न्यूज़ इंडिया

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button