अन्य

1 ही जगह पर एक ही वक्‍त 90 कपल ने रचाई शादी, एक शुभ मुहूर्त होने के कारण

तमिलनाडु में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर लगाए गए लॉकडाउन में मंदिर बंद होने के कारण 23 जनवरी को 90 से अधिक जोड़ों ने यहां के एक शीर्ष वैष्णव मंदिर के बाहर शादी रचाई.

तमिलनाडु में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर लगाए गए लॉकडाउन में मंदिर बंद होने के कारण 23 जनवरी को 90 से अधिक जोड़ों ने यहां के एक शीर्ष वैष्णव मंदिर के बाहर शादी रचाई. मंदिर के कार्यकारी अधिकारी ए. वीरबथिरन और पुजारी संघ के सचिव रथिना सबपति ने बताया कि रविवार को पुजारियों ने इस लोकप्रिय मंदिर के सामने सड़क पर कम से कम 91 शादियां करवाईं. राज्य में कोविड-19 संबंधी प्रतिबंधों के कारण सभी धार्मिक स्थलों को शुक्रवार, शनिवार और रविवार को बंद रखने के आदेश दिए गए हैं.

शुभ मुहूर्त होने के कारण मंदिर के पास सड़क पर 91 शादियां

वीरबथिरन और सबपति ने बताया कि रविवार को एक शुभ मुहूर्त होने के कारण मंदिर के पास सड़क पर कुल 91 शादियां कराई गईं. जिला मुख्यालय से करीब 12 किलोमीटर दूर स्थित इस छोटे से कस्बे के मंदिर में कुल 110 शादियों के लिए पंजीकरण कराए गए थे. विवाह कराने के लिए यह मंदिर राज्य में, खासकर कुड्डालोर और उसके आसपास के इलाकों में काफी लोकप्रिय है.

एक बार में कराई जा सकती है 40 शादियां

शादियों का आयोजन रविवार सुबह साढ़े चार बजे से 11 बजे के बीच ‘मुहूर्तम’ में किया गया. सुबह के समय को ‘ब्रह्म मुहूर्तम’ माना जाता है. अधिकारियों ने बताया कि मंदिर, भगवान विष्णु को समर्पित 108 ‘दिव्य देशम’ में से एक है. इसके परिसर में एक हॉल है, जहां एक बार में 40 शादियां आयोजित की जा सकती है.

तमिलनाडु में 23 जनवरी को कोविड-19 के 30,580 नए मामले

मंदिर के खुले होने पर विवाह करने पर कोई रोक नहीं है. आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, तमिलनाडु में 23 जनवरी को कोविड-19 के 30,580 नए मामले सामने आए थे. राज्य में रात 10 से सुबह पांच बजे के बीच रात्रिकालीन कर्फ्यू भी लागू है.  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button