विदेश

राष्ट्रपति ग्रेबियल बोरिक की कैबिनेट के 24 सदस्यों में 14 महिलाएं,डिफेंस का जिम्मा महिला को

बमुश्किल 2 करोड़ की आबादी वाले देश चिली में नई सरकार बनने जा रही है। राष्ट्रपति चुने गए हैं

बमुश्किल 2 करोड़ की आबादी वाले देश चिली में नई सरकार बनने जा रही है। राष्ट्रपति चुने गए हैं महज 35 साल के वामपंथी नेता ग्रेबियल बोरिक। उनकी कैबिनेट बेहद खास मानी जा रही है। इसमें कुल 24 मंत्री हैं और इससे भी बड़ी बात यह है कि 24 में से 14 मंत्री महिलाएं हैं। बोरिक का रुझान शुरू से ही स्टूडेंट पॉलिटिक्स की तरफ रहा है। यही वजह है कि उन्होंने अपनी कैबिनेट में कुछ पूर्व स्टूडेंट लीडर्स को भी जगह दी है।

नई कैबिनेट का अभी नॉमिनेशन हुआ है। 11 मार्च को यह शपथ लेगी। तब बोरिक की उम्र 36 साल हो जाएगी।

डिफेंस का जिम्मा महिला को बोरिक ने रक्षा मंत्रालय का जिम्मा महिला मंत्री माया फर्नांडेज को सौंपा है। वो देश के पूर्व उदारवादी नेता और राष्ट्रपति साल्वाडोर एलिंदे की पोती हैं। साल्वाडोर को 1973 में सैन्य तख्तापलट के जरिए पद से हटा दिया गया था।

होम मिनिस्ट्री की कमान डॉक्टर इजाकिया साइश के हवाले की गई है। पेशे से मेडिकल प्रोफेशनल रहीं इजाकिया हाल तक नेशनल मेडिकल एसोसिएशन की प्रेसेडेंट थीं और स्टूडेंट्स प्रोटेस्ट्स में उनकी अहम भूमिका थी।

अपने कैबिनेट मिनिस्टर्स और उनके परिवारों के साथ बोरिक।

राष्ट्रपति ने क्या कहा मीडिया से बातचीत में बोरिक ने कहा- हमने यह टीम इसलिए बनाई क्योंकि इन लोगों के पास नॉलेज है और ये देश की सेवा के लिए बिल्कुल तैयार हैं। यह लोगों और देश की जरूरतों को समझते हैं।

बोरिक देश के हेल्थ सेक्टर को मॉर्डन बनाना चाहते हैं। पेंशन सिस्टम और प्राइवेटाइजेशन में सुधार भी उनके एजेंडे में सबसे ऊपर है। पिछले महीने ही उनकी पार्टी ने इलेक्शन में जीत हासिल की थी।

देश का ढांचा बदलेंगे इस दक्षिण अमेरिकी देश में 2019 में सामाजिक और आर्थिक असमानता के खिलाफ आंदोलन चला। तानाशाही के दौर का संविधान बदलने की मांग उठी। बोरिक कहते हैं- इस कैबिनेट का मकसद देश के ढांचे को बदलना है। हमने जो वादे किए हैं, उन्हें पूरा करना है। हम आर्थिक विकास चाहते हैं, लेकिन इसके साथ ही कुछ बुनियादी सुधार बेहद जरूरी हैं।

स्टूडेंट लीडर कैमिला वेलेजो सरकार की प्रवक्ता होंगी। फाइनेंस मिनिस्ट्री मारियो मार्सेल को सौंपी गई है। वो सेंट्रल बैंक के पूर्व अध्यक्ष हैं और वर्ल्ड बैंक के साथ काम कर चुके हैं। इस कैबिनेट में राष्ट्रपति समेत 6 मंत्री ऐसे हैं, जिनकी उम्र 40 साल से कम है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button