राजनीति

IWD2022 – महिला दिवस के अवसर पर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने त्रिपुरा में किया बड़ा एलान

मिलेगा सरकारी नौकरियों में महिलाओं को 33 फीसदी आरक्षण

पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव समाप्त हो गए है और इसके साथ ही चुनाव के परिणाम 10 मार्च को सामने आएंगे। वहीं भाजपा सरकार के 4 साल पूरे होने पर मंगलवार को त्रिपुरा के अगरतला में एक जनसभा को संबोधित करते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने एक बड़ा ऐलान किया है। आपको बता दें कि शाह ने एलान किया कि त्रिपुरा में सरकारी नौकरियों में महिलाओं को 33 फीसदी आरक्षण दिया जाएगा। इस दौरान जनसभा को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि 4 साल में हमने त्रिपुरा को संभालने का काम किया है और अगले साल जब 5 साल हो जाएंगे तो उसके बाद एक मौका और दे दीजिए, हम त्रिपुरा को देश में नंबर एक राज्य बनाएंगे।

कम्युनिस्टों पर शाह ने कसा तंज़

इस दौरान केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा है कि जहां-जहां कम्युनिस्टों की सरकार होती है, वहां पर राजनीतिक विरोधियों के खून से होली खेली जाती है। लेकिन मैं गर्व से कह सकता हूं कि त्रिपुरा में राजनीतिक हत्याओं पर पूर्ण विराम लगाने का काम हमारे मुख्यमंत्री विप्लब देव जी ने किया है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि 25 साल तक कम्युनिस्टों ने यहां गरीबों के नाम पर राज किया है, लेकिन गरीबों के लिए कुछ नहीं किया है।आगे उन्होंने कहा भाजपा और अन्य दलों के 39 से ज्यादा कार्यकर्ताओं की हत्या की गई है।

भाजपा सरकार ने किया त्रिपुरा के हर गरीब के घर में बिजली पहुंचाने का काम -शाह

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि पहले त्रिपुरा में उग्रवाद, घुसपैठ, बंद, तनाव, भ्रष्टाचार की चर्चा होती थी और आज पूरे नॉर्थ ईस्ट को पीएम नरेंद्र मोदी ने अष्ट लक्ष्मी का स्वरूप देकर विकास, कनेक्टिविटी, इंफ्रास्ट्रक्चर, स्पोर्ट्स, इंवेस्टमेंट और जैविक खेती का बड़ा हब बनाने का काम किया है। आगे उन्होंने यह भी कहा कि त्रिपुरा में भाजपा सरकार बनने के चार साल बाद मैं देख रहा हूं कि जो त्रिपुरा पहले ड्रग्स और नशे के कारोबार से त्रस्त था, वो त्रिपुरा आज आत्मनिर्भर बनने की दिशा में आगे बढ़ रहा है। त्रिपुरा के हर गरीब के घर में बिजली पहुंचाने का काम भाजपा सरकार ने किया है। इसके साथ ही गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि हमारे देश की आजादी को आजाद हुए 75 साल पूरे हो गए हैं।इसके साथ ही त्रिपुरा को खूबसूरत भी बने हुए 50 साल पूरे हो गए हैं। 25 साल तक कम्युनिस्टों ने त्रिपुरा में राज किया था। 2015 में जब मैं यहां आया था, तब हर कोई यहां त्राहिमाम कर रहा था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button