देशब्रेकिंग न्यूज़

अलीगढ़ में CM के दौरे से चंद घंटों पहले हुआ बड़ा हादसा धराशाई हुई जर्जर बिल्डिंग,कई लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका

हादसे की सूचना पर डीएम सहित एसएसपी पुलिस फोर्स घटनास्थल पर पहुंच गए

अलीगढ़ में प्रदेश के सीएम योगी के आगमन से चंद घंटों पहले अलीगढ़ की ऊपरकोट कोतवाली इलाके में देर रात दर्दनाक हादसा उस वक्त सामने आया है। जब एक बहुमंजिला इमारत जर्जर हालत में होने से ताश के पत्तों की तरह बिखरकर जमींदोज हो गई। बिल्डिंग के मलबे में आधा दर्जन से ज्यादा लोग दब गए।बताया जा रहा है कि इमारत के घनी आबादी के बीच तेज धमाके के साथ भरभराकर गिरी।तो बिल्डिंग गिरने की आवाज लोगों को बम के तेज धमाके की तरह सुनाई दी ओर लोग सहम गए।मलबे में दबे लोगों की चीख-पुकार की आवाज सुन आसपास के लोग दौड़कर मौके पर इकट्ठा हो गए। लोगों ने फोन कर बिल्डिंग गिरने ओर मलबे में कई लोगों के दबे होने की सूचना पुलिस को दी। हादसे की सूचना पर डीएम सहित एसएसपी पुलिस फोर्स घटनास्थल पर पहुंच गए। जिलाधिकारी के मौके पर पहुंचने से पहले ही लोगों द्वारा रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर दिया। बिल्डिंग का मलबा हटाने के लिए मौके पर 4 जेसीबी मशीन सहित घायलों को अस्पतालों में ले जाने के लिए आधा दर्जन के एंबुलेंस मौके पर लगाई गई हैं।

वहीं आपको बता दें कि शुरुआत में बहु मंजिला बिल्डिंग के मलबे में कितने लोग दबे हैं। इसकी अभी कोई अधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है। हालांकि मौके पर मौजूद प्रशासनिक अधिकारियों और लोगों के द्वारा मलबे के अंदर दबे लोगों को निकालने के लिए देर रात ही रेस्क्यू ऑपरेशन चलाते हुए राहत और बचाव कार्य शुरू कर दिया गया है। इस दर्दनाक हादसे के बाद लोगों में भगदड़ और अफरा-तफरी मची हुई है। रेस्क्यू ऑपरेशन चलाते हुए मलबे में दबे लोगों को निकाल घायलों को जिला अस्पताल से प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टर द्वारा मेडिकल कॉलेज रेफर करते हुए घायलों को भर्ती कराया जा रहा है। जबकि  घटनास्थल पर भयावक स्थिति बनी हुई है।

बहुमंजिला बिल्डिंग गिरने की सूचना पर घटनास्थल पर पहुंचे डीएम इंद्र विक्रम सिंह का कहना है कि ऊपरकोट कोतवाली क्षेत्र में पुरानी जर्जर बिल्डिंग थी। जिस जर्जर बिल्डिंग के अंदर एक गोदाम भी बना हुआ था।जो बिल्डिंग देर रात गिर गई। मौके पर पहुंचने के बाद आसपास के लोगों से जानकारी करने पर मालूम हुआ कि इस जर्जर मकान में कोई परिवार फिलहाल नहीं रह रहा था। लेकिन देर रात बंद पड़े जर्जर मकान में परिवार के कुछ लोग सामान लेने के लिए पहुंचे थे। तभी अचानक बिल्डिंग की छत गिर गई। जिसके बाद रेस्क्यू ऑपरेशन चलाते हुए मलबे के अंदर दबे तीन लोगों को बाहर निकाला। जिनमे 2 घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया ओर 1 घायल का पैर की पूरी तरह से टूट गया उसको मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया।जहां मेडिकल के डॉक्टर द्वारा उसके पैर की सर्जरी करने की तैयारी शुरू कर दी गई है।जबकि मौके पर लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है, ओर आसपास के लोगों से पूछताछ की जा रही है कि इस बिल्डिंग के अंदर कोई परिवार निवास करता है कि नहीं, 

इसके साथ ही डीएम इन्द्र विक्रम ने ने बताया कि राहत और बचाव कार्य के लिए 4 जेसीबी मशीन ओर 6 एंबुलेंस घटनास्थल पर लगाई गई हैं। जेसीबी मशीनों से मलबे को हटाने का काम कराया जा रहा है। तो वही मलबे के अंदर दबे लोगों को बाहर निकाल एंबुलेंस से सीधे अस्पताल भेजा जा रहा है। तो वही डीएम ने कहा आवश्यकतानुसार जेसीबी मशीन ओर एंबुलेंस की संख्या बढ़ाई जा सकती हैं। फायर ब्रिगेड की गाड़ियों के साथ अधिकारी और दमकल कर्मचारी मौके पर जुटे हुए हैं। मजिस्ट्रेटों के साथ बड़ी तादाद में पुलिस फोर्स और डॉक्टरों की टीम भी मौके पर है। लेकिन घनी आबादी के चलते स्पेस कम हैं, बावजूद उसके राहत बचाव कार्य जारी है।जल्द ही स्थिति पर नियंत्रण पा लिया जाएगा। 3 घायल लोगों को निकलने के साथ  घायलों का उपचार जारी है। साथ ही अभी तक किसी 1 भी इंसान के हताहत होने की बात सामने नहीं आई।

इसके साथ ही जिलाधिकारी ने कहा कि बहुमंजिला इमारत के आसपास के मकानों में रह रही परिवार के लोगों को सावधानियों एहतियात के तौर पर सुरक्षा की दृष्टि से बाहर निकालते हुए रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है कि जिससे कोई और आसपास के बिल्डिंग न गिर जाए।

बाइट- इंद्र विक्रम सिंह जिलाधिकारी अलीगढ़

रिपोर्टर लक्ष्मन सिंह राघव

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button