अन्यक्राइम न्यूज़देशब्रेकिंग न्यूज़

अलीगढ़ : बीएड में दाखिला दिलाने के नाम पर 36 छात्रों से ठगी, परीक्षा से एक दिन पहले खुला भेद

अलीगढ़ में B.Ed में दाखिले के नाम पर छात्रों के साथ ठगी का मामला सामने आया है....... खास बात यह है कि परीक्षा शुरू होने से एक दिन पहले ही विद्यार्थियों को एहसास हुआ.....

अलीगढ़ में B.Ed में दाखिले के नाम पर छात्रों के साथ ठगी का मामला सामने आया है……. खास बात यह है कि परीक्षा शुरू होने से एक दिन पहले ही विद्यार्थियों को एहसास हुआ…….. करीब 36 युवक प्रवेश पत्र लेने कॉलेज पहुंचे, तो पता चला कि उनकी फीस जमा नहीं हुई, जबकि रुपए एजेंट को पहुंच चुके थे……. शुक्रवार देर रात को एजेंट के साथ इनमें से आधा दर्जन छात्र सिविल लाइन थाने पहुंचे……. जहां पुलिस में शिकायत कर कार्रवाई की मांग की. इस दौरान दूसरा पक्ष भी थाने बुलाया गया……. वही पुलिस ने दोनों की बातें सुनने के बाद पैसा लौटाने की बात कही है. गोरखपुर, संत कबीर नगर, कुशीनगर के छात्रों ने B.Ed की 2021 प्रवेश परीक्षा में भाग लिया था…….. इस बीच उनकी मुलाकात संत कबीर नगर के अभिषेक नाम के युवक से हुई थी…… जिसने काउंसलिंग के जरिए हाथरस जिले के सासनी स्थित अंजू प्रियंका डिग्री कॉलेज में एडमिशन दिलाने के नाम पर युवकों से लाखों रुपए एंठ लिये…….. वही एडमिशन के लिए स्कूली दस्तावेज भी दे दिया…… लेकिन कॉलेज में छात्रों की फीस नहीं जमा की गई…… इस बीच छात्रों के पास कॉलेज से फोन आया और बताया गया कि शनिवार से परीक्षा शुरू होनी है और प्रवेश पत्र लेने और परीक्षा देने के इरादे से शुक्रवार को छात्र कॉलेज पहुंचे…… जहां उन्हें बताया गया कि उनकी फीस न जमा होने के कारण प्रवेश पत्र नहीं मिलेगा…….. बाद में इन सभी लोगों ने अभिषेक को पकड़ा और उसे लेकर के राजा महेन्द्र प्रताप सिंह विश्वविद्यालय के कार्यालय दोधपुर पहुंचे. इस मामले एजेन्ट अभिषेक छात्रों को संतुष्ट नहीं कर सका और छात्रों ने ठगी का मामला बताकर थाना सिविल लाइन पहुंचे. इस बीच पूर्व विधायक हाजी जमीर उल्ला भी थाना सिविल लाइन आ गये…….. पुलिस की मौजूदगी में अभिषेक और छात्रों के बीच रकम वापसी का समझौता हुआ……… थाना सिविल लाइन प्रभारी प्रवेश राणा के अनुसार दोनों पक्षों में लिखित समझौते हुआ है और शिकायती पत्र वापस ले लिया गया है. बताया जा रहा है कि छात्रों से करीब साढ़े छह लाख रुपये की ठगी की गई…… इतना ही नहीं छात्रों की 2 साल की मेहनत भी बेकार चली गई. वहीं छात्रों का कहना है कि गोरखपुर से दूरी के चलते यहां पहले से पढ़ रहे छात्र पर भरोसा किया था. लेकिन ठगी के शिकार हो गये.   बाइट – मुन्ना यादव , छात्र
  बाइट – जमीर उल्ला , पूर्व विधायक
  रिपोर्टर लक्ष्मन सिंह राघव

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button