विदेश

रूसी बैंकों के करीब एक लाख करोड़ डॉलर के एसेट्स अब होल्ड किए जा रहे हैं।

यूक्रेन पर रूसी हमले के बाद दुनिया भर के देशों ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन और ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन ने रूस पर और ज्यादा प्रतिबंध लगाने का ऐलान किया है।

 

यूक्रेन पर रूसी हमले के बाद दुनिया भर के देशों ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन और ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन ने रूस पर और ज्यादा प्रतिबंध लगाने का ऐलान किया है। जो बाइडेन ने रूस को धमकी देते हुए कहा है कि उसे यूक्रेन पर हमले की गंभीर कीमत चुकानी होगी। वहीं, ब्रिटिश PM ने संसद को संबोधित करते हुए कहा, पुतिन ने अपने हाथ यूक्रेन के मासूम लोगों के खून से रंग लिए हैं, यह दाग कभी साफ नहीं किए जा सकेंगे।

अमेरिका का डायरेक्ट एक्शन… G-7 देश मिलकर रूस को जवाब देंगे अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने व्हाइट हाउस के संबोधन में कहा- व्लादिमीर पुतिन से बातचीत का कोई इरादा नहीं है। रूस के राष्ट्रपति ने युद्ध को चुना है और अब वह इसका परिणाम भुगतेंगे। हम G-7 देश मिलकर रूस को जवाब देंगे। VTB सहित रूस के 4 और बैंकों पर प्रतिबंध लगाए जाएंगे। इन बैंकों के तमाम एसेट्स फ्रीज कर दिए गए हैं। इसके साथ ही रूस के आधे से ज्यादा हाई टेक इंपोर्ट पर रोक लगा दी जाएगी।

राजधानी कीव को मिसाइलों से निशाना बनाया। हमले के बाद निरीक्षण करती यूक्रेनी पुलिस।

जो बाइडेन ने रूसी पहले को पूर्व नियोजित हमला बताते हुए कहा- NATO के सभी देशों को हमारा समर्थन जारी रहेगा। यह हम सभी के लिए संकट का समय है। पुतिन सोवियत संघ को फिर से जिंदा करना चाहते हैं, लेकिन उनकी यह महत्वकांक्षा वर्तमान हालातों के एक दम उलट है। हालांकि, बाइडेन साफ कर चुके हैं कि NATO सेना यूक्रेन नहीं जाएंगी।

रूस कमजोर होगा और बाकी दुनिया मजबूत बकौल बाइडेन- अब रूस कमजोर और बाकी दुनिया मजबूत होगी। रूस का फाइनेंशियल सिस्टम अब डॉलर, यूरो, पाउंड या येन में पहले की तरह कारोबार नहीं कर सकेगा। उसके मिलिट्री सिस्टम को भी नुकसान होगा। रूसी बैंकों के करीब एक लाख करोड़ डॉलर के एसेट्स अब होल्ड किए जा रहे हैं। बाइडेन ने यह भी कहा कि हम यूक्रेन संकट पर भारत के साथ विचार-विमर्श करेंगे।

ब्रिटेन का सख्त कदम…

पुतिन ने मासूमों के खून से हाथ रंगे ब्रिटिश प्राइम मिनिस्टर बोरिस जॉनसन ने गुरुवार देर रात रूस-यूक्रेन युद्ध के मसले पर संसद को संबोधित किया। जॉनसन ने पुतिन को आड़े हाथ लेते हुए कहा- उन्होंने घरेलू नाकामी छिपाने के लिए जंग शुरू की है। पुतिन ने अपने हाथ यूक्रेन के मासूम लोगों के खून से रंग लिए हैं, यह दाग कभी साफ नहीं किए जा सकेंगे। हमने रूस के सभी बैंकों को अपने फाइनेंशियल सिस्टम से बाहर कर दिया है। अब रूस को हमले के नतीजे पता लगेंगे।

ब्रिटिश सरकार रूसी बैंकों की संपत्ति को फ्रीज करेगी बोरिस जॉनसन ने गुरुवार को रूसी बैंकों, कंपनियों और एलिट क्लास पर और ज्यादा प्रतिबंध लगाने, ब्रिटिश टेक्नोलॉजी के रूस में इंपोर्ट के नियमों को और सख्त करने और रूसी एयरलाइन ‘एयरोफ्लॉट’ पर प्रतिबंध लगाने का वादा किया। ब्रिटिश सरकार सभी प्रमुख रूसी बैंकों की संपत्ति को फ्रीज करने और उन्हें लंदन के फाइनेंशियल मार्केट से बाहर करने के लिए नियम लाएगी। इसके साथ ही रूसी बैंक VTB के खिलाफ तत्काल एक्शन लिया जाएगा।
साउथ ईस्ट यूक्रेन के मारिउपोल के एयरपोर्ट के पास यूक्रेनी सेना के बेस पर आग देखी गई। कहा जा रहा है कि रूसी सेना ने इसे हवाई हमले से उड़ा दिया।

पुतिन के पूर्व दामाद किरिल शामलोव को ब्रिटेन निकाला जॉनसन ने बताया कि नए प्रतिबंध 100 कंपनियों, संस्थाओं और एलीट क्लास पर लागू होंगे। ब्रिटेन में पांच व्यक्तियों की संपत्ति जब्त कर ली जाएगी और उन्हें देश से बाहर कर दिया जाएगा, जिसमें राष्ट्रपति पुतिन के पूर्व दामाद किरिल शामलोव शामिल हैं; इसके अलावा PAB बैंक के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी पेट्र फ्रैडकोव; और VTB बैंक के उपाध्यक्ष डेनिस बोर्तनिकोव शामिल हैं।

बकौल जाॅनसन – अब हम एक ऐसे महाद्वीप में रहते हैं जहां एक विस्तारवादी ताकत यूरोप के नक्शे को फिर से बनाने की कोशिश कर रही है। हर देश की सुरक्षा के लिए यह जरूरी है कि पुतिन की कोशिशें नाकाम हो जाएं। ब्रिटिश सरकार रूस के साथ बेलारूस पर प्रतिबंध लगाएगी। ब्रिटेन दुनिया भर के बैंकों के बीच लेनदेन के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले स्विफ्ट पेमेंट सिस्टम से रूस को बाहर करने पर जोर देगा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button