राजनीति

मुख्यमंत्री योगी 25 मार्च को लेंगे शपथ

योगी सरकार की नई कैबिनेट में कई चेहरों को मौका मिल सकता है. मंत्री कौन-कौन बनेगा इसको लेकर मंथन लगातार जारी है. करीब 132 नामों पर चर्चा चल रही है.

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के शपथ ग्रहण की तैयारी पूरी हो चुकी है. सूत्रों के मुताबिक, यूपी में इस बार 3-4 डिप्टी सीएम (Deputy CM) बनाए जा सकते हैं. इसके अलावा 55-60 मंत्री भी बनाए जाने की संभावना है. सीएम योगी आदित्यनाथ गोरखपुर सदर सीट से विधायक बन चुके हैं और आज (मंगलवार को) उन्होंने यूपी विधान परिषद की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है.

योगी 2.0 में 4 डिप्टी सीएम?

बता दें कि इस बार यूपी की बीजेपी सरकार में 3-4 डिप्टी सीएम बनाए जा सकते हैं. डिप्टी सीएम पद की दौड़ में केशव प्रसाद मौर्य, डॉक्टर दिनेश शर्मा, बेबी रानी मौर्य, असीम अरुण और बृजेश पाठक का नाम आगे है. इसके अलावा मंत्रियों की लिस्ट 24 मार्च को फाइनल हो सकती है.

2024 को ध्यान में रखकर बनाए जाएंगे मंत्री

गौरतलब है कि यूपी सरकार में इस बार मंत्री 2024 के लोक सभा चुनाव को ध्यान में रखकर बनाए जाएंगे. अपना दल (एस) और निषाद पार्टी के कोटे से भी मंत्री बनेंगे. मंत्रिमंडल के लिए दिल्ली में नामों पर चर्चा चल रही है. मंत्रिमंडल के लिए 132 नामों पर चर्चा की जा रही है.

संभावित मंत्रियों के नाम

यूपी सरकार में बृजेश पाठक, आशुतोष टंडन, राजेश्वर सिंह, मोहसिन रजा, नितिन अग्रवाल, रामचंद्र यादव, रमापाति शास्त्री, सुरेश पासी, राकेश गुरु, लोकेन्द्र सिंह और आशा मौर्य को मंत्री बनाया जा सकता है.

जिले वाइस जानिए कौन-कौन बन सकता है मंत्री?

गोरखपुर से राजेश त्रिपाठी और श्री राम चौहान, कुशीनगर से पीएन पाठक और सुरेंद्र कुशवाहा, देवरिया से जयप्रकाश निषाद, सूर्यप्रताप शाही और सुरेंद्र चौरसिया, महाराजगंज से ज्ञानेंद्र सिंह और प्रेमसागर पटेल, बस्ती से अजय सिंह, सिद्धार्थनगर से राजा जयप्रताप सिंह, बलिया से दयाशंकर सिंह, प्रयागराज से केशव प्रसाद मौर्य, नंदगोपाल नंदी, सिद्धार्थनाथ सिंह और प्रवीण पटेल, प्रतापगढ़ से राजेंद्र मौर्य और महेंद्र सिंह के नाम पर मंत्री बनाने पर विचार चल रहा है.

इसके अलावा जौनपुर से गिरीश यादव, मऊ से रामविलास चौहान, वाराणसी से अनिल राजभर, रवींद्र जायसवाल और नीलकंठ तिवारी, सोनभद्र से भूपेश चौबे और संजय गौड़, मिर्जापुर से रमाशंकर पटेल या अनुराग सिंह पटेल, सीतापुर से राकेश गुरु और आशा मौर्य, शाहजहांपुर से सुरेश खन्ना और जितिन प्रसाद, हरदोई से नितिन अग्रवाल, रजनी तिवारी, शशांक वर्मा और लोकेंद्र सिंह, गोंडा से रमापति शास्त्री और अयोध्या से रामचंद्र यादव को मंत्री बनाया जा सकता है.

अमेठी से सुरेश पासी, लखनऊ से राजेश्वर सिंह, बृजेश पाठक, आशुतोष टंडन और मोहसिन रजा, कानपुर सतीश महाना और नीलिमा कटियार, बुंदेलखंड से स्वतंत्र देव सिंह, रामरतन कुशवाहा और प्रकाश द्विवेदी या रवि शर्मा, कन्नौज से असीम अरुण, इटावा से सरिता भदौरिया, मैनपुरी से रामनरेश अग्निहोत्री, अलीगढ़ से जयवीर सिंह, संदीप सिंह लोधी और अनिल पाराशर, मथुरा से श्रीकांत शर्मा और लक्ष्मी नारायण चौधरी, आगरा से जीएस धर्मेश और बेबी रानी मौर्य, हाथरस से अंजुला माहौर, बदायूं से राजीव सिंह और महेश गुप्ता, बरेली से संजीव अग्रवाल और धर्मपाल सिंह को मंत्री बनाए जाने की संभावना है.

वहीं बुलंदशहर से संजय शर्मा या अनिल शर्मा, गाजियाबाद-नोएडा से अतुल गर्ग, सुनील शर्मा और नंद किशोर गुर्जर या तेजपाल नगर, सहारनपुर से बृजेश सिंह, मुकेश चौधरी, जसवंत सैनी या कोई अन्य सैनी, मेरठ से अमित अग्रवाल, दिनेश खटीक, सोमेंद्र तोमर, मुजफ्फरनगर से कपिल देव अग्रवाल, बागपत से केपी मलिक और मुरादाबाद से चौधरी भूपेंद्र सिंह को मंत्री बनाया जा सकता है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button