देशब्रेकिंग न्यूज़

सम्भल में 2 साल से विरासत दर्ज कराने के लिये लगा रही चक्कर

भ्रष्टाचार से तंग आकर महिला ने अनशन कर दी आत्महत्या की चेतावनी

थाना धनारी क्षेत्र के गांव बायभूड निवासी महिला के कोई भाई न होने पर उसकी मां ने मरने से पूर्व महिला के नाम अपनी चल अचल संपत्ति की विरासत अपनी बेटी के नाम कर गयी थीं। जिसको लेकर महिला 2 साल से लगातार अधिकारियों के चक्कर लग रही है, परन्तु अभी तक विरासत दर्ज नहीं हो पाई है। 

थाना धनारी क्षेत्र के गांव बायभूड निवासी इन्द्रा यादव के कोई भाई न होने की बजह से उनकी मां रुमालों देवी निवासी वावेपुर तहसील चंदौसी ने अपनी चल अचल संपत्ति की वसीयत अपनी बेटी इंन्द्रा यादव के नाम मरने से पूर्व ही कर दी थी। मां की म्रत्यु के बाद इंद्रा यादव लगातार दो साल से तहसील परिसर के चक्कर लगा रही हैं। परन्तु उनकी वसीयत दर्ज नहीं हुई है।जहां एक तरफ सरकार की नीति प्रदेश को भ्रष्टाचार से मुक्त कर आम जनमानस तक न्याय पहुंचाना है वहीं तहसील चंदौसी का प्रशासन सरकार की मंशा पर पानी फेरने का कार्य कर रहा है।  ऐसे में न्याय ना मिलने के चलते अंतिम विकल्प आत्महत्या ही हो सकता है। उन्होंने अधिकारियों के सामने एक दिन का सांकेतिक धरना प्रदर्शन करने की चेतावनी भी दी।

बाईट – इंद्रा यादव, पीड़ित

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button