ब्रेकिंग न्यूज़स्वास्थ्य

चाहते है तेज दिमाग और बेहतर याददाश्त

मेडिकल साइंस में मस्तिष्क को हमारे शरीर का सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट (सीपीयू) माना जाता है। शरीर की छोटी से बड़ी हर गतिविधि का संचालन यहीं से होता है

उम्र के साथ दिमाग की शक्ति कमजोर होने लगती है। बढ़ती उम्र के साथ याददाश्त की कमजोरी, एकाग्रता और ध्यान में कमी, निर्णय लेने की क्षमता में गिरावट और पार्किंसन-अल्जाइमर जैसी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। पर ऐसा भी नहीं है कि यह बीमारियां कम उम्र में नहीं हो सकती हैं। पिछले कुछ वर्षों में 40 से कम की आयु वाले लोगों में भी इस तरह की समस्याओं का निदान किया जा रहा है।

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक दिमाग को स्वस्थ रखने में आहार की बड़ी भूमिका होती है। हम जिस तरह का भोजन करते हैं वह शरीर और मस्तिष्क दोनों की शक्ति का निर्धारण करता है। यही कारण कि हम सभी लोगों को स्वस्थ आहार को लेकर बचपन से ही ध्यान देने की आवश्यकता होती है। कई अध्ययनों में वैज्ञानिक दावा करते हैं कि अगर कम उम्र से ही स्वस्थ आहार के सेवन की आदत बना ली जाए तो यह उम्र के साथ मस्तिष्क की क्षमता में होने वाली कमी के जोखिम को काफी हद तक कम कर देती है। अगर आप भी जीवनभर तेज दिमाग और बेहतर याददाश्त चाहते हैं तो आहार में कुछ चीजों को जरूर शामिल करें। आइए आगे की स्लाइडों में जानते हैं कि दिमाग को स्वस्थ रखने के लिए वैज्ञानिक किन चीजों के सेवन की सलाह देते हैं।

स्वस्थ दिमाग के लिए मछली का करें सेवन स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक दिमाग की क्षमता को बेहतर बनाए रखने के लिए मछली खाना आपको लाभ दे सकता है। मस्तिष्क का लगभग 60 प्रतिशत हिस्सा फैट से बना होता है और उस फैट का आधा हिस्सा ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है। ओमेगा -3 फैटी एसिड एक प्रकार का प्रोटीन स्रोत है जो एक मस्तिष्क को स्वस्थ रखने के लिए आवश्यक है। मछली का सेवन इस ओमेगा -3 फैटी एसिड  की आवश्कताओं की पूर्ति कर सकता है। आहार में मछली को शामिल करने से न सिर्फ याददाश्त शक्ति बढ़ाती है, साथ ही यह दिमाग को स्वस्थ रखने के लिए बहुत फायदेमंद है।

कॉफी पीने के हैं कई फायदे अगर आपको लगता है कि कॉफी पीना नुकसानदायक है, तो इसके फायदों के बारे में भी जान लीजिए।  कॉफी में 2 मुख्य घटक होते हैं- कैफीन और एंटीऑक्सिडेंट। कॉफी एडीनोसिन नामक एक रासायनिक संदेशवाहक को अवरुद्ध करके आपकी सतर्कता शक्ति को बढ़ा देती है। एडीनोसिन बढ़ने के कारण आप अक्सर नींद जैसा महसूस करते रहते हैं। कई अध्ययनों से पता चला है कि दिन में 3-4 कप कॉफी पीने से पार्किंसंस और अल्जाइमर जैसी न्यूरोलॉजिकल बीमारियों का जोखिम कम होता है।

नट्स और सीड्स, स्वस्थ दिमाग के लिए जरूरी दिमाग को स्वस्थ और अलर्ट रखने के लिए आहार में नट्स और सीड्स को जरूर शामिल करें। ये एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन-ई के अच्छे स्रोत माने जाते हैं, जो उम्र बढ़ने के साथ संज्ञानात्मक क्षमता में कमी को रोकने में सहायक हो सकते हैं। विशेष-तौर पर अखरोट का सेवन मस्तिष्क के बेहतर स्वास्थ्य को सुनिश्चित करने के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। अध्ययनों से पता चलता है कि जो लोग नियमित रूप से सूखे मेवों का सेवन करते हैं उनका दिमाग बुढ़ापे तक तेज और अलर्ट बना रहता है।

डार्क चॉकलेट डार्क चॉकलेट खाने के कई तरह के लाभ हैं, इसमें से मस्तिष्क का बेहतर स्वास्थ एक है। डार्क चॉकलेट में शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट के साथ फ्लेवोनोइड्स (एंटीऑक्सीडेंट) जैसे मस्तिष्क को बेहतर स्वास्थ्य प्रदान करने वाले यौगिक पाए जाते हैं। चॉकलेट में फ्लेवोनोइड्स की मात्रा, सीखने और याददाश्त से संबंधित हानि के जोखिम को कम करने के साथ कई तरह के मानसिक रोग के जोखिमों को कम करने में भी सहायक है। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button