विदेश

बाइडन ने पोलैंड सीमा पर तैनात अमेरिकी सैनिकों का बढ़ाया हौसला

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) यूक्रेन से लगी पोलैंड की सीमा के पास तैनात अमेरिकी सैनिकों से शुक्रवार को मुलाकात की और उनका हौसला बढ़ाया।

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) यूक्रेन से लगी पोलैंड की सीमा के पास तैनात अमेरिकी सैनिकों से शुक्रवार को मुलाकात की और उनका हौसला बढ़ाया। बाइडन ने यहां शरणार्थी यूक्रेनी नागरिकों से भी मुलाकात की। बाइडन ने शरणार्थियों को हर संभव मदद का आश्‍वासन दिया। यूक्रेन से लगभग 22 लाख लोग भागकर पोलैंड आए हैं। अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने सीमावर्ती शहर जेसजोव में पोलैंड के समकक्ष आंद्रजेज डूडा के साथ मीटिंग की। बातचीत के दौरान यूक्रेनी शरणार्थियों के लिए सहायता के साथ ही द्विपक्षीय मसलों पर भी चर्चा हुई। बाइडन ने युद्ध के इस दौर में डूडा को हर तरह की मदद का आश्‍वासन दिया। इससे पहले बाइडन ने अमेरिकी सेना की 82वीं एयरबोर्न डिविजन के सदस्यों से मुलाकात की। वह शुक्रवार दोपहर दक्षिणपूर्वी पोलैंड के सबसे बड़े शहर रेजजो में हवाई अड्डे पर पहुंचे। इस बीच, यूरोपीय संघ ने कहा कि यूक्रेन के लगभग 35 लाख लोग देश छोड़कर भाग गए हैं। यूक्रेनी शरणार्थियों के के लिए 1 अरब डॉलर की अमेरिकी मदद इससे पहले विश्व के अन्य नेताओं के साथ बैठकों के बाद ब्रसेल्स में बाइडन ने कहा कि द्वितीय विश्व युद्ध के बाद यूरोप में सबसे बड़े शरणार्थी संकट से निपटने के लिए पोलैंड, रोमानिया और जर्मनी को अकेले नहीं छोड़ा जाना चाहिए। उन्होंने यूक्रेन के शरणार्थियों की मदद के वास्ते एक अरब अमेरिकी डॉलर की अतिरिक्त सहायता की घोषणा किये जाने के बाद कहा, यह एक अंतरराष्ट्रीय जिम्मेदारी है। मारियुपोल में 16 मार्च को मारे गए थे 300 लोग इस बीच, यूक्रेन के मारियुपोल शहर में 16 मार्च को ड्रामा थिएटर में हुए बम विस्फोट में कम से कम 300 लोगों के मारे जाने की जानकारी सामने आई है। मारियुपोल शहर को रूसी सैनिकों ने घेर रखा है, जहां से धमाकों की कई खबरें सामने आ चुकी हैं। द गार्जियन की रिपोर्ट के अनुसार, स्थानीय अधिकारियों ने यह जानकारी दी। बताया जा रहा है कि लगभग 1,300 लोग इमारत में शरण लिए हुए थे और हमले के तुरंत बाद केवल 150 बचे लोग मलबे से बाहर निकल पाए थे। सूत्रों ने कहा कि थिएटर में मौजूद अधिकांश लोग स्टेच के नीचे गोलाबारी से छिपे हुए थे और यह मलबा उनके बाहर निकलने में बाधा बन रहा था। द गार्जियन की रिपोर्ट के अनुसार, मारियुपोल में कोई आपातकालीन सेवा नहीं चल रही है और थिएटर के पास भीषण लड़ाई और गोलाबारी ने बचाव के प्रयासों को रोक दिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button