क्राइम न्यूज़

पत्नी के लिए रिश्तेदार पर हुआ शक, फिर नकली नोटों के सहारे रची बड़ी साजिश

उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले में पुलिस ने एक ऐसे मामले का खुलासा किया है, जिसे जानकर हर कोई हैरान है।

पत्नी पर बुरी नजर रखने वाले एक रिश्तेदार को झूठे केस में फंसाने को बिछाई गए जाल में आरोपी खुद ही फंस गया। वहीं आरोपी के दो अन्य साथी भी पुलिस के हत्थे चढ़ गए हैं। यही नहीं नकली नोट बाजार में खपाने की भी पोल खुल गई। पुलिस ने 58 हजार रुपये के नकली नोट बरामद किए हैं। शुक्रवार को पुलिस अधीक्षक डॉ. धर्मवीर सिंह ने प्रेस वार्ता कर जाली नोट पकड़े जाने का खुलासा किया है। उन्होंने बताया कि नजीबाबाद पुलिस ने जाली नोट बाजार में खपाने वाले आरोपी कयूम पुत्र मोहम्मद यासीन निवासी बुध बाजार कस्बा नूरपुर, हाल निवासी मोहम्मद असलतपुरा मेहंदी का चौराहा गलशहीद मुरादाबाद, वरुण पुत्र रामनिवास कृष्णरामपुर थाना स्योहारा और कौशल पुत्र शिव किशोर सिंह निवासी कृष्णा रामपुर थाना स्योहारा को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने सौ के 525 जाली नोट, पांच सौ के 11 जाली नोट सहित कुल 58 हजार रुपये के नकली नोट बरामद किए हैं। वहीं 4830 रुपये के असली नोट भी बरामद किए गए हैं।

दूसरों को फसाने में खुद पकड़े गए एसपी के अनुसार पकड़े गए तीनों आरोपी अन्य तीन लोगों को जाली नोटों के साथ पकड़वा कर जेल भिजवाना चाहते थे। आरोपी कयूम ने पुलिस को बताया कि उसका एक रिश्तेदार उसकी पत्नी पर बुरी नजर रखता था।

वहीं दो अन्य रिश्तेदारों से भी इसी बात को लेकर उसकी रंजिश थी। इन तीनों रिश्तेदारों को तीनों आरोपियों ने बरेली से जाली नोट लाकर थमा दिए। साजिश के तहत इन्हें हरिद्वार भेज दिया गया, इसी दौरान पुलिस को सूचना दे दी।

इसके बाद पुलिस ने तीनों युवकों को नकली नोटों के साथ पकड़ लिया। वहीं पूछताछ में खुलासा हुआ कि जिनके पास नकली नोट मिले हैं, उन्हें कोई जानकारी ही नहीं थी। बाद में पड़ताल करते हुए पुलिस नकली नोटों के असली सौदागरों के पास तक पहुंच गई। आखिरकार तीन आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए, जबकि निर्दोष लोगों को छोड़ दिया गया।

बरेली से नकली नोट लाकर आसपास के शहरों में खपाते थे आरोपी पुलिस की जांच में खुलासा हुआ कि तीनों आरोपियों ने बरेली के गांव शाहपुरा थाना शीशगढ़ के रहने वाले पवन सिंह पुत्र लाल सिंह से नकली नोट हासिल किए थे। इससे पहले भी आरोपी जाली नोटों को भीड़भाड़ वाले बाजारों में लोगों को थमा देते थे। हालांकि अभी बरेली के रहने वाले आरोपी को गिरफ्तार करने का प्रयास किया जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button