राजनीति

मोदी युग में भी इस नेता का जलवा कायम, 10 जिलों में नहीं खुल सका BJP का खाता

प्रदेश के पॉलिटिकल पंडित इसे नवीन पटनायक का जादू बता रहे हैं. उनकी पार्टी ने लैंडस्लाइड विक्ट्री दर्ज की है. बीजेपी (BJP) 10 जिलों में कोई जिला परिषद सीट नहीं जीत पाई, तो कांग्रेस (Congress) 18 जिलों में खाता नहीं खोल पाई.

ओडिशा (Odisha) में सत्तारूढ़ बीजू जनता दल (BJD) ने जिला परिषद की उन 829 सीट में से 743 सीट पर जीत हासिल कर ली है. चुनाव आयोग (EC) ने मंगलवार के अब तक घोषित नतीजों के मुताबिक, बीजेडी ने जिला परिषद की 87.20 % सीटों पर कब्जा किया है. जिला परिषद की 852 सीट में से 829 पर मतगणना हो चुकी है बाकी सीटों पर मतगणना जारी है. जिनके नतीजे दोपहर बाद आ सकते हैं.

बीजेडी की लैंडस्लाइड विक्ट्री

बीजेडी ने 743 सीट जीती हैं, वहीं उसकी प्रतिद्वंद्वी भारतीय जनता पार्टी (BJP) केवल 42 सीट हासिल करने में सफल रही, जबकि कांग्रेस मात्र 37 सीट जीत पाई. निर्दलीय उम्मीदवारों ने तीन सीट पर जीत हासिल की जबकि अन्य को चार सीट मिलीं हैं. अभी तक के घोषित परिणाम के अनुसार, बीजेडी ने इससे पहले 2017 में हुए पंचायत चुनाव में अपने प्रदर्शन की तुलना में 267 अधिक सीट जीती हैं, जबकि बीजेपी ने पिछले चुनाव के मुकाबले 2022 में 255 सीट गंवाई. भगवा दल ने 2017 में 297 सीट जीती थीं और इस बार पार्टी अबतक मात्र 42 सीट ही जीत पाई.

विपक्ष को घाटा

कांग्रेस ने 2017 में जिला परिषद की 60 सीट अपने नाम की थीं, लेकिन इस बार वह फिलहाल केवल 37 सीट तक सिमट कर रह गई. निर्दलीय उम्मीदवारों और अन्य ने 2017 में 17 सीट जीतीं थीं, लेकिन इस बार वे सात सीट पर ही जीत हासिल कर पाए. इस शानदार जीत के साथ राज्य में सत्तारूढ़ दल ओडिशा के सभी 30 जिलों में परिषद बनाने के लिए तैयार है. पिछली बार बीजेपी ने आठ जिलों में परिषद बनाई थी.

10 जिलों में नहीं खुला बीजेपी का खाता

राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी बीजेपी 10 जिलों में कोई जिला परिषद सीट नहीं जीत पाई, तो कांग्रेस 18 जिलों में खाता नहीं खोल पाई. बीजेपी (BJP) भद्रक, देवगढ़, जगतसिंहपुर, जाजपुर, झारसुगुड़ा, कोरापुट, मलकानगिरी, मयूरभंज, नबरंगपुर और रायगढ़ जिलों में जिला परिषद की कोई भी सीट नहीं जीत सकी. इसी तरह कांग्रेस पार्टी अंगुल, बरगढ़, भद्रक, बौद्ध, कटक, देवगढ़, ढेंकनाल, गंजम, जाजपुर, झारसुगुड़ा, केंद्रपाड़ा, क्योंझर, खुर्दा, मयूरभंज, नयागढ़, पुरी, संबलपुर और सुंदरगढ़ में कोई सीट नहीं जीत पाई. ओडिशा में पंचायत चुनाव के लिए पांच चरणों में 16 फरवरी, 18 फरवरी, 20 फरवरी, 22 फरवरी और 24 फरवरी को मतदान हुआ था और मतगणना 26 फरवरी, 27 फरवरी और 28 फरवरी को की गई. चुनाव आयोग (EC) के अधिकारी ने बताया कि कुछ स्थानों पर फिर से मतगणना होने के कारण वहां वोट की गिनती अभी जारी है.  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button