देश

Devendra Fadnavis Arrested – भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस को लिया गया पुलिस हिरासत में

महाराष्ट्र में मलिक के इस्तीफे की मांग को लेकर विरोध मार्च निकाल रहे थे

महाराष्ट्र से बड़ी खबर सामने आई है। बताया जा रहा है कि मुंबई पुलिस ने भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस और पार्टी के अन्य नेताओं को हिरासत में ले लिया है। फडणवीस समेत भाजपा के कई नेता राज्य मंत्री नवाब मलिक के इस्तीफे की मांग को लेकर विरोध मार्च निकाल रहे थे। विरोध प्रदर्शन भायखला के जीजामाता चौक से शुरू हुआ और मुंबई के आजाद मैदान में समाप्त होना था। फडणवीस तीन मार्च से हो रहे बजट सत्र के दौरान रोजाना विधानसभा के अंदर नवाब मलिक के इस्तीफे की मांग कर रहे थे। बताया जा रहा है कि उन्होंने मलिक के दाऊद कनेक्शन को लेकर भी महाराष्ट्र के मंत्री को घेरा था।

आपको बता दे की इससे पहले भाजपा ने महाराष्ट्र की सत्ताधारी महाविकास आघाड़ी सरकार पर पुलिस की मिलीभगत से पार्टी नेताओं को झूठे मुकदमों में फंसाने की साजिश रचने का आरोप लगाया था और पूरे मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग की थी।

वहीँ भाजपा प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने यहां पार्टी मुख्यालय में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस द्वारा इस सिलसिले में महाराष्ट्र विधानसभा के उपाध्यक्ष नरहरि जिरवाल को 125 घंटे के वीडियो को एक पेन ड्राइव में सौंपे जाने का हवाला दिया। इसके साथ ही उन्होंने दावा किया कि इस वीडियो में वह सारे सबूत मौजूद हैं कि कैसे महाराष्ट्र सरकार के मंत्रियों के साथ मिलकर भाजपा की आवाज को दबाने के लिए फर्जी मामले दर्ज करने की साजिश रची गई।

इसके अलावा उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के भाजपा और विपक्ष के नेताओं देवेंद्र फडणवीस, गिरीश महाजन, सुधीर मुंगत्तीवार और महाराष्ट्र भाजपा के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल तथा अन्य नेताओं के खिलाफ किस प्रकार साजिशें रची गयीं, वह इस वीडियो में स्पष्ट है।

भाजपा प्रवक्ता ने आरोप लगाया कि महाराष्ट्र के विशेष सरकारी वकील प्रवीण पंडित चव्हाण का दफ्तर साजिशों का एक अड्डा बन गया है और वहां पुलिस अधिकारियों तथा महाराष्ट्र सरकार के मंत्रियों के साथ मिलकर भाजपा की आवाज को दबाने के लिए फर्जी मामले दर्ज कराने की साजिश रची गई। बता दें कि मंगलवार को फडणवीस ने राज्य विधानसभा में भी इस मामले को उठाया था और शिवसेना नीत महाविकास आघाडी सरकार पर अपने राजनीतिक विरोधियों को निशाना बनाने और पुलिस विभाग का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button