स्वास्थ्य

ब्लड शुगर के मरीज पैरों की इन दिक्कतों को न करें इग्नोर

डायबिटिक फुट अल्सर की परेशानी पेरिफेरल आर्टरी डिजीज की वजह से होती है।

डायबिटिक फुट अल्सर क्या है डायबिटिक फुट अल्सर एक तरह का घाव है जो आमतौर पर डायबिटीज के मरीजों के पैर में होता है। ये अल्सर आमतौर पर एक छोटी सी चोट के रूप में शुरू होता है। शुरूआत में ये छाले जैसा, फटी हुई सूखी स्किन की तरह, पैरों के आस- पास छोटे से कट या स्क्रैप की तरह होता है

डायबिटिक फुट अल्सर के लक्षण डायबिटिक फुट अल्सर के लक्षणों की बात करें तो इसमें पैरों की स्किन का रंग बदलना, पैरों में सनसनाहट महसूस होना, पैरों में घाव होना और संवेदनशीलता में कमी आना, घाव का रिसना, चलने में पैर दर्द होना शामिल है।

क्यों होता है फुट अल्सर? डायबिटीज न्यूरोपैथी खराब फिटिंग के जूते पैरों की सफाई का ध्यान नहीं देना फुल अल्सर की हिस्ट्री वैरिकाज वेंस

डायबिटिक फुट अल्सर का उपचार

डायबिटिक फुट अल्सर बीमारी की गंभीरता पर निर्भर करता है। कम गंभीर मामलों में डॉक्टर घाव को साफ करके उसका उपचार कर सकता है। पैर की गंदी स्किन को काट कर साफ कर सकता है और पैरों पर पट्टी बांध सकता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button