अन्यबिज़नेस

आठ कोर सेक्टर का उत्पादन अगस्त में 3.3 प्रतिशत की सुस्त रफ्तार से बढ़ा

व्यवसाय जगत में दिखे दो अपडेट

आर्थिक मोर्चे पर दो नई अपडेट देखने को मिली है …….आठ कोर सेक्टर का उत्पादन अगस्त में 3.3 प्रतिशत की सुस्त रफ्तार से बढ़ा है…….वहीं, अप्रैल-अगस्त की अवधि में भारत का राजकोषीय घाटा 5.42 लाख करोड़ रुपये था, जो पूरे साल के लक्ष्य का 32.6 प्रतिशत था…कोर सेक्टर में 9 माह की गिरावट: कोर सेक्टर में यह वृद्धि पिछले नौ महीने में सबसे कम है….. एक साल पहले की इसी अवधि में यह आंकड़ा 12.2 प्रतिशत था…… पिछला निचला स्तर नवंबर, 2021 में 3.2 प्रतिशत था…….. आठ कोर सेक्टर का उत्पादन इस साल अप्रैल-अगस्त में 9.8 प्रतिशत बढ़ा है, जो एक साल पहले इसी अवधि में 19.4 प्रतिशत था। इन आठ सेक्टर में कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, उर्वरक, इस्पात, सीमेंट और बिजली शामिल हैं….राजकोषीय घाटा सरकार के बाजार से लिये गये कर्ज की स्थिति को बताता है। महालेखा नियंत्रक (सीजीए) के आंकड़ों के अनुसार, टैक्स समेत सरकार की कुल प्राप्तियां 8.48 लाख करोड़ रुपये रहीं। यह 2022-23 के लिये बजटीय अनुमान का 37.2 प्रतिशत है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button