देशब्रेकिंग न्यूज़

डॉक्टरों व इंजीनियरों के तबादलों में गड़बड़ी के बीच शासन को भेजे शिकायती पत्र

शासन को भेजे शिकायती पत्र में उन्हें भी सीएमओ बनाने का आरोप लगा है

डॉक्टरों व इंजीनियरों के तबादलों में गड़बड़ी के बीच अब प्रदेश में मुख्य चिकित्साधिकारियों की तैनाती में भी बड़े पैमाने पर खेल की शिकायत की गई है। बता दे की शासन को भेजे शिकायती पत्र में उन्हें भी सीएमओ बनाने का आरोप लगा है जिनके खिलाफ जांच चल रही है या रिटायरमेंट में एक साल से भी कम वक्त बचा है। इस पूरे मामले की शिकायत शासन से की गई है।

 

शिकायती पत्र में ये भी आरोप लगाया गया है कि सीएमओ की तैनाती में मनमानी की गई है। ऐसे कई लोगों को तैनात कर दिया गया है जिनके खिलाफ अनुशासनिक कार्यवाही चल रही है। साथ ही कुछ ऐसे हैं जिनकी सेवानिवृत्ति सालभर से भी कम बची है। जिन जिलों की शिकायत की गई है उनमें हाथरस, बहराइच, देवरिया, बस्ती, सिद्धार्थनगर समेत कई जिले हैं।

नियमों के मुताबिक जिन चिकित्साधिकारियों के खिलाफ विभागीय कार्यवाही चल रही हो, प्रतिकूल प्रविष्टि दी गई हो, वेतनवृद्धि रोकी गई हो या फिर दंडादेश पारित किया गया हो, उन्हें सीएमओ या सीएमएस नहीं बनाया जा सकता। गबन व शासकीय क्षति के दोषी को भी 10 साल तक प्रशासनिक पद पर तैनाती के लिए उपयुक्त नहीं माना गया। वही जिनकी सेवानिवृत्ति एक साल के अंदर है अथवा पूर्व में प्रशासनिक पद पर तैनात न हों, उन्हें भी इस पद के योग्य नहीं माना गया है। शिकायत के संबंध में पक्ष जानने के लिए अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद को फोन किया गया और मैसेज भी भेजा गया, लेकिन उन्होंने उत्तर नहीं दिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button