उत्तर प्रदेशमहोबा

यूपी के महोबा में जिला पंचायत की सरकारी जमीन पर दबंग भूमाफिया को कब्जा करना पड़ा महंगा

यूपी के महोबा में जिला पंचायत की सरकारी जमीन पर दबंग भूमाफिया को कब्जा करना महंगा पड़ गया।बता दें कि जिला पंचायत अधिकारी के द्वारा 03 करोड़ 71 लाख रिकवरी नोटिस के आधार पर महोबा पुलिस प्रशासन ने माधव खरे को भू माफिया घोषित करने के बाद गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

यूपी के महोबा में जिला पंचायत की सरकारी जमीन पर दबंग भूमाफिया को कब्जा करना महंगा पड़ गया।बता दें कि जिला पंचायत अधिकारी के द्वारा 03 करोड़ 71 लाख रिकवरी नोटिस के आधार पर महोबा पुलिस प्रशासन ने माधव खरे को भू माफिया घोषित करने के बाद गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।जिला प्रशासन की बड़ी कार्यवाही से महोबा जिले की भू माफियाओं में हड़कंप मच गया है । महोबा जिला पंचायत के बकाएदार माधव खरे पर आरसी जारी की गई थी।जिस पर हमने मांग पत्र देने के बाद इनके द्वारा कोई धनराशि धनराशि जमा नहीं की गई है।जिसके चलते हमने नियमानुसार गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। माधव खरे पर तीन करोड़ 71 लाख 59 हजार रुपए बकाया है ।आरटीआई कार्यकर्ता जीवनलाल चौरसिया ने बताया कि 1946 में रामसेवक खरे के नाम 30 साल का पट्टा हुआ था जो वर्ष 1976 खत्म हो गया था। उसके बाद जिला पंचायत अधिकारियों की सांठगांठ के चलते मामला ठंडे बस्ते में दबा रहा था इस मामले को मैंने महामहिम राज्यपाल के यहां शिकायती पत्र भेजा था आज जिला पंचायत के द्वारा तहसीलदार को रिकवरी नोटिस भेजा गया था जिसके आधार पर भूमाफिया माधव खरे को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।। रिपोर्ट–सुमित तिवारी  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button