विदेश

उत्तरी अटलांटिक महासागर में पिछले तीन दिन से धू-धूकर जल रहा जहाज, हजारों कारें बनीं मलबे का ढेर

जहाज 'फेलिसिटी ऐस' बीती 10 फरवरी को जर्मनी के एम्डेन से रवाना हुआ था और बुधवार की रोज अमेरिका रोड आइलैंड के डेविसविले पहुंचने वाला था। 

उत्तरी अटलांटिक महासागर में पिछले तीन दिन से जहाज धू-धूकर जल रहा है। बताया जा रहा है कि इस जहाज में सवार 22 क्रू मेंबर्स को सुरक्षित रेस्क्यू कर लिया गया है। घटना बीते बुधवार की है लेकिन आग अभी भी बुझी नहीं है। पुर्तगाली नौसेना के मुताबिक, जहाज में 1100 कारें बताई जा रही हैं जो जहाज के साथ जल रही हैं। इनका मलबा अब महासागर में पुर्तगाल के अजोरेस तट के पास बह रहा है।
मिली जानकारी के अनुसार, जहाज ‘फेलिसिटी ऐस’ बीती 10 फरवरी को जर्मनी के एम्डेन से रवाना हुआ था और बुधवार की रोज अमेरिका रोड आइलैंड के डेविसविले पहुंचने वाला था। पुर्तगाली नौसेना के मुताबिक, जहाज के कार्गो होल्ड में आग तब लगी जब यह पुर्तगाली द्वीप क्षेत्र अजोरेस में टेरसेरा द्वीप से लगभग 200 मील की दूरी पर था। बुधवार को पुर्तगाली बलों ने आग लगने के तुरंत बाद चालक दल को बाहर निकाला। अधिकारियों ने कहा कि बचाव अभियान, जिसमें एक हेलिकॉप्टर शामिल था, इसमें चालक दल के सदस्यों को रेस्क्यू करके पास के पुर्तगाली द्वीप फैयाल ले जाया गया। अभी तक, यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि 650 फुट ऊंचे और 60,000 टन भारी मालवाहक जहाज को आग से कितना नुकसान पहुंचा है, क्योंकि शिपिंग कंपनी खबर लिखे जाने तक मौके पर नहीं पहुंच सकी थी। ऑटोमोटिव वेबसाइट, ‘द ड्राइव’ के अनुसार, वोक्सवैगन समूह का अनुमान है कि जहाज में कंपनी की लगभग 4,000 वाहन थे, जिसमें 189 बेंटले शामिल थे। पोर्श ने जहाज पर अपनी 1,100 कारों की मौजूदगी की पुष्टि की है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button