खेल जगत

दीपक हुड्डा ने कहा कि उनका सपना था कि उन्हें एमएस धोनी या विराट कोहली से डेब्यू कैप मिले और वेस्टइंडीज के खिलाफ ये साकार होने पर काफी अच्छा लगा।

रोहित शर्मा के नेतृत्व वाली भारतीय टीम ने दूसरे मैच में वेस्टइंडीज को 44 रन से हराकर सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त हासिल कर ली है।

भारतीय ऑलराउंडर दीपक हुड्डा ने वेस्टइंडीज के खिलाफ जारी तीन मैचों की वनडे सीरीज के पहले मैच में इंटरनेशनल डेब्यू किया। दूसरे मैच में भी उनको खेलने का मौका मिला और इन दोनों मैचों में इस ऑलराउंडर ने अपने खेल से काफी प्रभावित किया है। दीपक हुड्डा ने कहा कि उनका सपना था कि उन्हें एमएस धोनी या विराट कोहली से डेब्यू कैप मिले और वेस्टइंडीज के खिलाफ ये साकार होने पर काफी अच्छा लगा। रोहित शर्मा के नेतृत्व वाली भारतीय टीम ने दूसरे मैच में वेस्टइंडीज को 44 रन से हराकर सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त हासिल कर ली है। भारत ने  50 ओवर में नौ विकेट पर  237 रन का सम्मानजनक स्कोर बनाया और बेहतर गेंदबाजी करते हुए विंडीज को 46 ओवर में 193 रन पर समेट दिया। हुड्डा ने बीसीसीआई.टीवी पर पोस्ट किए गए एक वीडियो में टीम के साथी सूर्यकुमार यादव से कहा, “मैंने पहले वनडे में डेब्यू किया, यह एक अद्भुत एहसास था। आप हमेशा उसके लिए कड़ी मेहनत करते हैं, मैच से पहले मैंने आपसे (सूर्यकुमार यादव) बात की। मैं टीम का हिस्सा बनकर अच्छा महसूस करता हूं। ये मेरा बचपन का सपना था कि मैं धोनी से या विराट से कैप लूं। कोहली से कैप लेना एक अद्भुत एहसास था।” उन्होंने आगे कहा, “अच्छी चीजें समय लेती हैं लेकिन खुद को तैयार रखें। जाहिर है, विराट कोहली, रोहित शर्मा और राहुल द्रविड़ के साथ ड्रेसिंग रूम साझा करना एक शानदार एहसास है। आप हमेशा उनसे बहुत कुछ सीखते हैं। मैं बस उनसे सीखने की कोशिश कर रहा हूं। मेरा लक्ष्य मेरी प्रक्रिया पर उसी इरादे से काम करना है और परिणाम के बारे में ज्यादा चिंता नहीं करना है।”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button