विदेश

2021 में चीन की आबादी में आधे मिलियन से भी कम की वृद्धि

तमाम प्रयासों के बावजूद 2021 में चीन की आबादी में आधे मिलियन से भी कम की वृद्धि हुई है। जन्म दर में ये लगातार पांचवें वर्ष गिरावट दर्ज की गई है।

तमाम प्रयासों के बावजूद 2021 में चीन की आबादी में आधे मिलियन से भी कम की वृद्धि हुई है। जन्म दर में ये लगातार पांचवें वर्ष गिरावट दर्ज की गई है। सोमवार को जारी ताजा राष्ट्रीय आंकड़ों के मुताबिक अधिकारियों ने कहा कि देश की आबादी ने “जीरो ग्रोथ” अवधि में प्रवेश किया है। राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यूरो (एनबीएस) ने सोमवार को कहा कि चीन ने 2021 में 10.62 मिलियन जन्म या प्रति 1,000 लोगों पर केवल 7.5 जन्म दर्ज किए। 1949 में चीन की कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीसी) के तहत नए चीन की स्थापना के बाद से यह सबसे कम विकास दर (ग्रोथ रेट) है। हालांकि जनसांख्यिकीय दृष्टि से, चीन में पैदा होने वालों की संख्या मरने वालों से अधिक रही और ये 480,000 से बढ़कर 1.4126 बिलियन हो गई। 2021 में दर्ज की गई मौतों की संख्या 10.14 मिलियन थी।

पिछले साल चीन में कितने बच्चे पैदा हुए?

2021 में 1.06 करोड़ बच्चों ने जन्म लिया जो 2020 के 1.20 करोड़ के मुकाबले कम था। वहीं 2020 में 2019 के मुकाबले 18% की गिरावट दर्ज की गई थी जब उस साल 14.65 मिलियन बच्चे पैदा हुए थे। एनबीएस के प्रमुख निंग जिझे ने कहा कि चीन की गिरती आबादी के लिए कई कारक जिम्मेदार हैं। एक प्राथमिक कारण प्रसव उम्र की महिलाओं की संख्या में निरंतर कमी है, क्योंकि 2021 में पिछले वर्ष की तुलना में 15 से 49 के बीच प्रसव उम्र की लगभग 5 मिलियन कम महिलाएं देखी गईं। निंग के हवाले से राज्य मीडिया ने कहा, “अन्य कारकों में जोड़ों की प्रजनन अवधारणा और महामारी के कारण शादी और जन्म में देरी शामिल है।” तमाम प्रयासों के बावजूद 2021 में चीन की आबादी में आधे मिलियन से भी कम की वृद्धि हुई है। जन्म दर में ये लगातार पांचवें वर्ष गिरावट दर्ज की गई है। सोमवार को जारी ताजा राष्ट्रीय आंकड़ों के मुताबिक अधिकारियों ने कहा कि देश की आबादी ने “जीरो ग्रोथ” अवधि में प्रवेश किया है। राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यूरो (एनबीएस) ने सोमवार को कहा कि चीन ने 2021 में 10.62 मिलियन जन्म या प्रति 1,000 लोगों पर केवल 7.5 जन्म दर्ज किए। 1949 में चीन की कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीसी) के तहत नए चीन की स्थापना के बाद से यह सबसे कम विकास दर (ग्रोथ रेट) है। हालांकि जनसांख्यिकीय दृष्टि से, चीन में पैदा होने वालों की संख्या मरने वालों से अधिक रही और ये 480,000 से बढ़कर 1.4126 बिलियन हो गई। 2021 में दर्ज की गई मौतों की संख्या 10.14 मिलियन थी।

चीन की कितनी युवा आबादी है? 

निंग ने कहा कि 2021 के अंत में, 16-59 आयु वर्ग की कामकाजी उम्र की आबादी 882 मिलियन थी, जो कुल आबादी का 62.5% है; 60 और उससे अधिक आयु की जनसंख्या 267 मिलियन थी, जो कुल जनसंख्या का 18.9% थी, और 65 और उससे अधिक आयु की जनसंख्या 200 मिलियन थी, जो कुल जनसंख्या का 14.2% थी। पिनपॉइंट एसेट मैनेजमेंट के मुख्य अर्थशास्त्री झांग झिवेई ने एएफपी के हवाले से कहा, “जनसांख्यिकीय चुनौती सर्वविदित है, लेकिन जनसंख्या की उम्र बढ़ने की गति स्पष्ट रूप से अपेक्षा से तेज है।”

क्या कदम उठा रहा चीन

उन्होंने कहा, “यह भी संकेत देता है कि चीन की संभावित वृद्धि अपेक्षा से अधिक तेजी से धीमी हो रही है।” पेकिंग यूनिवर्सिटी के अर्थशास्त्र के प्रोफेसर लियांग जियानझांग ने ग्लोबल टाइम्स को बताया कि चीन की अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए प्रजनन क्षमता को और बढ़ावा देना और जनसंख्या में वृद्धि करना आवश्यक, प्रभावी और महत्वपूर्ण है। दुनिया का सबसे अधिक आबादी वाला देश है चीन 2016 में दशकों पुरानी एक बच्चे की नीति को खत्म करने के बावजूद उम्रदराज नागरिकता का बोझ ढो रहा है। चीन की जनसंख्या दशकों में सबसे धीमी गति से बढ़ रही है। देश में पिछले एक दशक में केवल 72 मिलियन नए लोग पैदा हुए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button