रायबरेलीस्वास्थ्य

रायबरेली में जिला कारागार के सिपाही की जेल वार्डन द्वारा पिटाई के मामले को लेकर जिला जेल पहुंचे डीआईजी

कल देर रात रायबरेली जिला कारागार के बाहर सिपाही की जेल वार्डन द्वारा पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद जहां पांचों जेल वार्डर को निलंबित कर दिया गया

कल देर रात रायबरेली जिला कारागार के बाहर सिपाही की जेल वार्डन द्वारा पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद जहां पांचों जेल वार्डर को निलंबित कर दिया गया वहीं संगीन धाराओं में मुकदमा भी दर्ज किया गया , वह इस मामले ने राजनीतिक तूल पकड़ लिया जहां समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्वीट करते हुए मामले को संज्ञान लेने को कहा जहां आज इसी कड़ी में डीआईजी जेल संजीव त्रिपाठी पहुंचे रायबरेली के जिला कारागार जहां कई घंटों के बाद चल रही पूछताछ में निष्कर्ष ना निकल सका और उन्होंने मीडिया के सवालों को जवाब देते हुए कहा बातचीत चल रही है सभी पहलुओं पर जांच की जाएगी जो कार्रवाई होगी लखनऊ में बैठे उच्च अधिकारी के द्वारा की जाएगी। फिलहाल पांचो सिपाहियों को निलंबित कर दिया गया है आगे की विधिक कार्रवाई की जा रही है। वही जब मीडिया ने पूछा कि भंडारे में कुछ अराजक सामग्री का भी प्रयोग किया जाता है उन्होंने साफ जवाब देते हुए कहा भंडारे में ऐसी किसी भी वस्तु का प्रयोग नहीं किया जाता फिलहाल सभी पहलू पर जांच जारी है पूछताछ के बाद ही पता चलेगा। बता दें कि घायल सिपाही की पत्नी रुचि दुबे से बात की तो उन्होंने जेल अधीक्षक से लेकर समस्त सिपाहियों पर आरोप लगाया यहां तक कि उन्होंने यह भी कहा कि जेल में अफीम गांजा एवं अन्य ऐसी सामग्री इन पांचों सिपाहियों के द्वारा अंदर लाई जाती है जिसकी तलाशी भी नहीं की जाती वही भंडारे में काम कर रहे घायल सिपाही ने जब पांचों बंदियों की बात नहीं मानी तो उन पांचों ने मिलकर जिला जेल कारागार के बाहर सिपाही को लाठी डंडों से बेरहमी से पीटा जिसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ, घायल सिपाही की बस इतनी गलती थी कि उसने जेल में चल रहे काले धंधे को उजागर किया। फिलहाल यह हम नहीं कह रहे हैं घायल सिपाही की पत्नी रुचि दुबे जो रो रो कर अपने आंसू बहाते हुए पूरी बात बताई क्या कुछ कहा घायल सिपाही की पत्नी ने आइए आपको सुनाते हैं। रिपोर्ट -मनीष वर्मा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button