स्वास्थ्य

क्या आप भी बिना डॉक्टरी सलाह के पी लेते हैं कफ सिरप

अफ्रीकी देश गाम्बिया में कथित तौर पर भारत में बने कफ सिरप को पीने से 66 बच्चों की मौत की खबर है. क्या आप भी बिना डॉक्टरी सलाह के पी लेते हैं कफ सिरप

अक्सर लोग जुकाम और खांसी होते ही मेडिकल स्टोर से कफ सिरप लेकर पी लेते हैं. बच्चों को भी खांसी होने पर बिना कुछ सोचे समझे कफ सिरप पिला देते हैं. लेकिन ये कितना खतरनाक हो सकता है, ये अफ्रीकी देश गाम्बिया में 66 बच्चों की मौत के बाद सामने आया है.

कफ सिरप में पाया जाता है कोडीन

क्या आप जानते हैं कि कुछ कफ सिरप यानी खांसी की दवाई में कोडीन मॉर्फीन नाम का केमिकल होता है, जो अफीम ग्रुप का है और लंबे समय तक इसे पीने से इसका गलत असर होता है. शरीर में बार-बार कोडीन जाने से यह धीमा जहर यानी स्लो पॉइजन जैसा काम करने लगता है

अक्सर आपने सुना होगा कि कफ सिरप नशे के लिए भी लोग यूज करते हैं. तो हां, आपने सही सुना है. कफ सिरप में पाया जाने वाला कोडीन लगातार पीने से इसकी लत लग जाती है इसे पीने के बाद जैसे ही आप इसे छोड़ने की कोशिश करेंगे, तो इसकी वजह से एंग्जायटी, डिप्रेशन, लगातार नींद आना, भूख न लगना, पेट दर्द होना और वेट लॉस जैसी प्रॉब्लम होगी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button