स्वास्थ्य

रोजाना ग्रीन टी पीने से कम हो सकता है मधुमेह का जोखिम

10 साल की अवधि में रोजाना 4 कप ग्रीन या ब्लैक टी पीने से डायबिटीज का खतरा 17 फीसदी कम हो जाता है।

ग्रीन टी के सेवन से शुगर कंट्रोल में रहता है। इसमें एंटी ऑक्सीडेंट्स और एंटी डायबिटिक के गुण पाए जाते हैं। ये आवश्यक पोषक तत्व मधुमेह और मोटापा में फायदेमंद होते हैं। इसके अलावा, ग्रीन टी पीने से डायबिटीज का खतरा भी कम होता है। एक नए में खुलासा हुआ है कि रोजाना ग्रीन और ब्लैक टी पीने से डायबिटीज का जोखिम कम होता है।

 

क्या कहती है शोध ?

 रोजाना ग्रीन टी या ब्लैक टी पीने से मधुमेह को टाला जा सकता है। यह शोध अगले सप्ताह स्वीडन में यूरोपियन एसोसिएशन फॉर द स्टडी ऑफ डायबिटीज (ईएएसडी) की वार्षिक बैठक में प्रस्तुत किया जाएगा। शोध में दावा किया गया है कि 10 साल की अवधि में रोजाना 4 कप ग्रीन या ब्लैक टी पीने से डायबिटीज का खतरा 17 फीसदी कम हो जाता है। रोजाना एक कप ग्रीन टी पीने से 1 प्रतिशत और 1 से लेकर 3 कप ग्रीन टी पीने से डायबिटीज का खतरा 4 फीसदी कम होता है। इस बारे में शोधकर्ताओं ने अधिक जानकारी देते हुए कहा कि ग्रीन टी में एंटीऑक्सीडेंट, एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटी कैंसरजनक के यौगिक पाए जाते हैं, जो कई बीमारियों में फायदेमंद होते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button