राजनीति

अनुच्छेद 370 निरस्त करने जैसा कदम पहले कभी नहीं उठाया गया: राहुल गांधी

साल 2024 में होने वाले लोक सभा चुनाव को लेकर तमिलनाडु के मुख्यमंत्री स्टालिन की अगुवाई में विपक्षी दलों ने हिस्सा लिया. इस दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी, केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन, बिहार विधान सभा के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव आदि मौजूद रहे.

 तमिलनाडु के मुख्यमंत्री की अगुवाई में 2024 में होने वाले लोक सभा चुनाव को लेकर कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इसमें विपक्षी दलों की गोलबंदी नजर आई. इस मौके पर मौजूद नेताओं ने भाजपा को हराने और राष्ट्र के संस्थापक सिद्धांतों की रक्षा का संदेश देने का प्रयास किया.

शासन के लिए नौकरशाहों को छोड़ा

जम्मू कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 को 2019 में निरस्त करने के लिए भारतीय जनता पार्टी (BJP) नीत केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि यह एक ऐसा कदम था, जो देश में पहले कभी नहीं उठाया गया. इसके जरिए उत्तर प्रदेश और गुजरात के नौकरशाहों को केंद्र शासित प्रदेश पर शासन करने के लिए छोड़ दिया गया.

उमर अब्दुल्ला के टिप्पणी के बाद प्रतिक्रिया

नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah) ने द्रविड़ मुनेत्र कषगम (DMK) के अध्यक्ष और तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन (Chief Minister MK Stalin) की आत्मकथा ‘उंगालिल उरुवन’ (आपके बीच से ही एक) का विमोचन किया. इस मौके पर अपने संबोधन में तत्कालीन राज्य के केंद्र शासित प्रदेश के रूप में विभाजन पर अफसोस जताया. अब्दुल्ला के इस बयान के बाद गांधी की यह टिप्पणी सामने आई.

राज्य के लोग खुद पर नहीं करते शासन

राहुल गांधी (rahul gandhi) ने कहा कि उमर ने कमाल की बात कही है. हमें यह समझना होगा कि आजादी के बाद पहली बार भारतीय संघ के किसी राज्य की शक्तियां छीन ली गईं. ऐसा पहले कभी नहीं हुआ कि लोगों के अधिकार उनसे छीने गए हों. आज जम्मू-कश्मीर के लोग खुद पर शासन नहीं करते हैं. उत्तर प्रदेश और गुजरात के नौकरशाह जम्मू-कश्मीर में शासन करते हैं. इस मौके पर केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन और बिहार विधान सभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव भी मौजूद थे.

व्यवस्थित तरीके से किया जा रहा हमला

सीमा सुरक्षा बल (BSF) के अधिकार क्षेत्र को बढ़ाए जाने का जिक्र करते हुए कांग्रेस (congress) नेता ने कहा कि पंजाब में सैकड़ों किलोमीटर जमीन एकतरफा छीन ली गई और बिना किसी सवाल व चर्चा के BSF को दी गई और वे तमिलनाडु के लिए भी ऐसा ही करते हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि न्यायपालिका, निर्वाचन आयोग और मीडिया पर एक-एक करके ‘व्यवस्थित’ तरीके से हमला किया जा रहा है, लेकिन भाजपा को किसी भ्रम में नहीं रहना चाहिए. हम उनसे लड़ने जा रहे हैं, हम उन्हें हराने जा रहे हैं.

विचार थोपने का आरोप

गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए उन पर तमिलनाडु के लोगों पर कुछ अन्य विचार थोपने की कोशिश करने का आरोप लगाया. जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री अब्दुल्ला ने अनुच्छेद-370 को निरस्त करने पर दुख जताते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) के लोगों, उनके पिता और खुद उन्हें ऐसी प्रतिकूल परिस्थितियों से गुजरना पड़ा, जिसकी हम शायद ही कभी कल्पना कर सकते हैं. उन्होंने इस मुद्दे पर जम्मू-कश्मीर के लोगों को समर्थन देने के लिए स्टालिन और उनकी पार्टी को धन्यवाद दिया.

किताब विमोचन का था कार्यक्रम

इससे पूर्व लोक सभा सदस्य राहुल गांधी (rahul gandhi) ने स्टालिन की किताब का विमोचन किया. किताब की पहली प्रति DMK नेता और राज्य के जल संसाधन मंत्री दुरुईमुरुगन को दी गई. वहीं, स्टालिन ने कहा कि मंच पर मौजूद नेताओं से ही नहीं, बल्कि उन सभी से जो धर्मनिरपेक्ष मूल्यों में भरोसा करते हैं, उनसे एक अपील करना चाहता हूं. हमारा भारतीय संघ विभाजनकारी ताकतों की ओर से बड़े खतरे का सामना कर रहा है. इन्हें हराने के लिए एक साथ आने की जरूरत है.

सीएम स्टालिन की तारीफ

इस दौरान मुख्यमंत्री विजयन ने भी भाजपा पर हमला बोला और लोकतंत्र को बचाने के लिए एकता के मंत्र के महत्व को बल दिया. उन्होंने कहा कि जब भी संघवाद पर हमला किया गया. तमिलनाडु के मुख्यमंत्री स्टालिन हमेशा इसकी रक्षा के लिए सामने आए हैं.  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button