देशब्रेकिंग न्यूज़

भारत की विकास गाथा का हिस्सा बनें निवेशक

सीतारमण ने वैश्विक निवेशकों को भारत की विकास गाथा का हिस्सा बनने का न्योता दिया है। उन्होंने कहा कि तमाम व्यवधानों के बावजूद भारत वर्ष 2023 में दुनिया का सबसे तेज गति से विकास करने वाला देश होगा और विकास की यह गति आगे भी कायम रहेगी।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वैश्विक निवेशकों को भारत की विकास गाथा का हिस्सा बनने का न्योता दिया है। अमेरिका में यूएस-इंडिया बिजनेस काउंसिल और सीआइआइ की तरफ से आयोजित बिजनेस राउंडटेबल बैठक को संबोधित करते हुए सीतारमण ने कहा कि तमाम व्यवधानों के बावजूद भारत वर्ष 2023 में दुनिया का सबसे तेज गति से विकास करने वाला देश होगा और विकास की यह गति आगे भी कायम रहेगी। उनके इस आह्वान पर वहां मौजूद दुनिया के बड़े निवेशक और उद्यमियों ने उन्हें निवेश का भरोसा दिया।

निवेश को लेकर वित्त मंत्री के साथ बातचीत में मुख्य रूप से क्लीन एनर्जी, सेमीकंडक्टर, ग्रीन स्टील, वेस्ट टू एनर्जी एवं कार्बन कैप्चर क्षेत्र से जुड़े उद्यमियों ने निवेश की दिलचस्पी दिखाई। वित्त मंत्री विश्व बैंक व आइएमएफ की बैठक में हिस्सा लेने अमेरिका गई हुई हैं। इस मौके पर स्टारवुड एनर्जी के सीईओ हिमांशु सक्सेना ने कहा कि हमलोग भारत के अगले चरण के विकास में भागीदारी के लिए तैयार हैं। ब्लूम एनर्जी के सीईओ केआर श्रीधर ने कहा कि अमेरिका अपनी एडवांस तकनीक के साथ भारत में एनर्जी सुरक्षा के लिए काम करने को तैयार है। सेमीकंडक्टर सेक्टर के उद्यमियों ने भी भारत में निवेश व तकनीकी साझेदारी को लेकर दिलचस्पी दिखाई।

आगामी 29 अप्रैल से बेंगलुरु में सेमीकंडक्टर निर्माण को लेकर तीन दिवसीय वैश्विक सम्मेलन का आयोजन कर रहा है जिसमें सेमीकंडक्टर से जुड़ी कई अमेरिकी कंपनियां हिस्सा ले रही हैं। भारत में सेमीकंडक्टर निर्माण में अमेरिका महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। ऐसे में अमेरिका की सिलिकान वैली में सीतारमण के साथ सेमीकंडक्टर सेक्टर के उद्यमियों के साथ बैठक को काफी अहम माना जा रहा है।

वित्तीय सेक्टर में भी निवेश के लिए कहा

वित्त मंत्री ने सिलिकान वैली में वहां के उद्यमियों से वित्तीय सेक्टर में भी भारत के साथ टेक्नोलाजी साझेदारी व निवेश के लिए कहा। उन्होंने कहा कि भारत में फिनटेक सेक्टर में तेजी से विकास हो रहा है और इस साझेदारी से वित्तीय समावेशन में और मजबूती आएगी। राउंडटेबल बैठक के बाद वित्त मंत्री ने वैश्विक स्तर की कंपनियों के कई सीईओ के साथ भी मुलाकात की। इनमें मुख्य रूप से उबर सीईओ दारा खोस्त्रोव्शाही, फ‌र्स्ट सोलर के सीई मार्क विदमर, वैस्टर्न डिजिटल के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट डैन स्टियर शामिल हैं। फ‌र्स्ट सोलर के सीईओ ने बताया कि जल्द ही उनका भारतीय प्लांट संचालन में आ जाएगा जो काफी कम लागत पर चलने वाली फैक्ट्री होगी। फ‌र्स्ट सोलर ने भारत में 70 करोड़ डालर का निवेश किया है।

एनआरआइ ओसीआइ को भारतीय शेयर बाजारों में निवेश की इजाजत देने की मांग

प्रवासी भारतीयों की एक प्रमुख संस्था एफआइआइडीएस ने सोमवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से कहा कि प्रवासी भारतीयों (एनआरआइ) और भारत के विदेशी नागरिक (ओसीआइ) कार्डधारकों को भारतीय शेयर बाजारों में निवेश करने की इजाजत दी जाए।

फाउंडेशन फार इंडिया एंड इंडियन डायस्पोरा स्टडीज (एफआइआइडीएस), अमेरिका ने कहा कि इस तरह के कदम से वैश्विक भारतीय समुदाय के निवेश से भारतीय अर्थव्यवस्था को और बढ़ावा मिलेगा। एफआइआइडीएस एक अमेरिका स्थित संस्थान है, जो भारत-अमेरिका संबंधों को बढ़ावा देने के लिए काम करता है। एफआइआइडीएस ने सीतारमण को दिए अपने ज्ञापन में कहा कि हाल के एक सर्वेक्षण में प्रवासी भारतीय समुदाय के 88 प्रतिशत लोगों ने इस कदम का समर्थन किया है। संस्थान ने दोहरा कराधान अपवंचना समझौते (डीटीएए) के विस्तार का भी आग्रह किया ताकि भारत में हुई आय पर अमेरिका में कर देने से बचा जा सके।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button