अन्यउत्तर प्रदेशदेशपीलीभीत

पीलीभीत में लंपी वायरस से पशुओं के मरने की आशंका

यहां गौवंश पशु के मरने और बीमार कई पशुओं के बीमार पड़े होने से गांव में हड़कंप मच गया। वहीं ग्रामीण लंपी बीमारी से पशुओं के मरने की आशंका जता रहे हैं।

पीलीभीत में गौवंशीय पशुओं के मरने का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है। यहां गौवंश पशु के मरने और बीमार कई पशुओं के बीमार पड़े होने से गांव में हड़कंप मच गया। वहीं ग्रामीण लंपी बीमारी से पशुओं के मरने की आशंका जता रहे हैं। सूचना पर पुलिस और डॉक्टरों की टीम ने गांव पहुंची है पुलिस ने मृत पशु को गड्ढे में गड़वा दिया है। वही डॉक्टरों की गांव में आवारा व पालतू पशुओं का टीकाकरण कर रही है। हालांकि डॉक्टर ने लंपी बीमारी से पशु के मरने की पुष्टि नहीं की है।गौरतलब है थाना बिलसंडा क्षेत्र के रामपुर अमृत गांव में बीते एक सप्ताह में आधा दर्जन गौवंशीय पशुओं की मौत से गांव में दहशत का माहौल है।

एक गौवंशीय पशु की मौत हो जाने से गांव में हड़कंप मच गया। सूचना पर पुलिस और डॉक्टरों की टीम ने पहुंचकर पशु को जेसीबी से गड्ढा खोदकर गढ़वा दिया है और डॉक्टरों की टीम आवारा व गौवंशीय पशुओं का टीकाकरण कर रही है। वही गांव में दर्जनों जानवरो के शरीर पर बड़े बड़े फोड़े की तरह निकलने से ग्रामीण दहशत में है और जानवरों में होने बाली लंपी वायरस की आशंका जता रहे है। वही ग्रामीण बीमारी से रोकथाम के उपाय के लिए सरकार से इंतजाम करने की गुहार लगा रहे है। वही पशु चिकित्साधिकारी डॉ जगदेव सिंह ने अपनी टीम के साथ पशुओं का टीकाकरण किया है। वही डॉक्टर का कहना है गांव में पशुओं का टीकाकरण कर दिया गया है लंपी वायरस की जांच के लिए जानवरों के खून के नमूने लेकर लैब भेजने पर पता चल सकेगा जानवरों की किस बीमारी से मौत हुई है

बाइट-डॉ जगदेव सिंह/ पशुचिकित्साधिकारी

बाइट-धर्मेंद्र पांडे / ग्रामीण

बाइट-आदेश कुमार / ग्रामीण

बाइट-टिंकू / ग्रामीण

बाइट-प्रभाकर / ग्रामीण

  रिपोर्टर- सरताज सिद्दीकी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button