अन्यक्राइम न्यूज़देशब्रेकिंग न्यूज़

Fire in Factory: फैक्ट्री में अवैध रूप से बना रहे थे पटाखे , चौकीदार को जलता देख भाग गया मालिक

रोहटा में पटाखा फैक्टरी में शुक्रवार को हुए हादसे के दौरान चौकीदार संजय को जिंदा जलते हुए देख और महिलाओं की चीखपुकार सुनकर फैक्टरी मालिक गौरव मोहन गुप्ता वहां से भाग गए थे।

रोहटा में पटाखा फैक्टरी में शुक्रवार को हुए हादसे के दौरान चौकीदार संजय को जिंदा जलते हुए देख और महिलाओं की चीखपुकार सुनकर फैक्टरी मालिक गौरव मोहन गुप्ता वहां से भाग गए थे। संजय की पत्नी सुलोचना की तहरीर पर पुलिस ने गैरइरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। वहीं, पीड़ित परिवार ने थाने में हंगामा कर आरोप लगाया कि फैक्टरी मालिक की लापरवाही के कारण ही यह हादसा हुआ है। पुलिस अब आरोपी गौरव की तलाश कर रही है। पुलिस की जांच में यह भी सामने आया कि फैक्टरी में अवैध रूप से पटाखे बनाए जा रहे थे। मेरठ-बड़ौत रोड पर रोहटा में केसरगंज मंडी निवासी गौरव मोहन गुप्ता की पटाखा फैक्ट्ररी में शुक्रवार दोपहर आग लगने के बाद विस्फोट हो गया था। इसमें चौकीदार नंगला कबूलपुर मुंडाली निवासी संजय आग में जिंदा जल गए थे और यहां काम कर रहीं महिलाओं ने दीवार कूदकर जान बचाई थी। एफएसओ संतोष कुमार राय का कहना कि फैक्टरी मालिक गौरव मोहन गुप्ता को फोन किया गया था। उन्होंने फैक्टरी बंद और चोरी के दौरान आग लगने की बात कहकर पल्ला झाड़ दिया था। पुलिस ने इस मामले की गंभीरता से जांच की। पता चला है कि फैक्टरी में अवैध तरीके से पटाखे बनाए जा रहे थे। शनिवार को रोहटा पुलिस ने फैक्टरी में काम करने वाली गीता पत्नी संजय, शीला पत्नी सुनील, मुनेश पत्नी देवेंद्र, अर्चना पत्नी किशोर, शिवानी पुत्री ओंकार का रोहटा सीएचसी में मेडिकल कराया गया। दीवार से कूदते समय उन्हें चोट आई थीं। पीड़ित परिवार और पुलिस के मुताबिक फैक्टरी के मालिक हादसे के समय वहीं थे। अगर उनके स्तर पर बचाव का प्रयास होता तो शायद संजय की जान बच जाती।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button