देश

महोबा जनपद में शराब के नशे में फूड इंस्पेक्टर ने एसडीएम से की अभद्रता

महोबा जनपद में शराब के नशे में फूड इंस्पेक्टर ने एसडीएम से ही अभद्रता कर दी।

महोबा जनपद में शराब के नशे में फूड इंस्पेक्टर ने एसडीएम से ही अभद्रता कर दी। नायाब तहसीलदार द्वारा रोकने पर उसे भी जमकर अपशब्द कह डालें। शराब के नशे में चूर फूड इंस्पेक्टर अपने पद की गरिमा और मर्यादाओं को ही भूल कर महिला एसडीएम से अभद्रता कर दी। एसडीएम के निर्देश पर कोतवाली पुलिस ने फूड इंस्पेक्टर का मेडिकल परीक्षण कराया है । रिपोर्ट में अल्कोहल की पुष्टि हुई है । तो वहीं एसडीएम ने कार्यवाही के लिए डीएम को पत्र लिखा है। जिस पर जिलाधिकारी ने एडीएम को मामले की जांच सौप कार्यवाही करने की बात कही है।

महोबा जनपद के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कुलपहाड़ में शराब के नशे में बैठा यह आम व्यक्ति नहीं बल्कि खाद्य निरीक्षक है जिसका मेडिकल परीक्षण पुलिस अभिरक्षा में कराया जा रहा है । आपने फिल्मी गाना “थोड़ी सी जो पी ली है चोरी तो नहीं की है” जरूर सुना होगा लेकिन इन महाशय ने थोड़ी नहीं बल्कि 10 बियर की बोतलें पी रखी है। साहब शराब के नशे में ही ड्यूटी करने पहुंच गए जहां एसडीएम कुलपहाड़ से उसने नशे की हालत में अभद्रता करना शुरू कर दी। फिर क्या था फूड इंस्पेक्टर साहब पुलिस की हिरासत में है और दूसरों की जांच करने वाले फूड इंस्पेक्टर की सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टर जांच कर रहे है।

दरअसल बताया जाता है कि बीते रोज कुलपहाड़ कोतवाली पुलिस ने भारी मात्रा में तम्बाखू मिश्रित गुटखा पिकअप वाहन से बरामद किया था। जिसको लेकर एसडीएम कुलपहाड़ श्वेता पांडे ने कोतवाली पुलिस को कार्यवाही के निर्देश दिए थे साथ ही सैंपल के लिए खाद्य निरीक्षक नागेंद्र कुमार को बुलाया गया था। बताया जाता है कि उक्त गाड़ी को कोतवाली से छोड़ दिया गया जिसको लेकर एसडीएम ने कोतवाली प्रभारी से स्पष्टीकरण तलब किया और फूड इंस्पेक्टर को भी कार्यालय बुलाया ।

एसडीएम कार्यालय में उस समय हंगामा खड़ा हो गया जब फूड इंस्पेक्टर शराब के नशे में एसडीएम कुलपहाड़ से अभद्रता करने लगे यही नहीं जब नायब तहसीलदार पंकज गौतम द्वारा उन्हें रोका गया तो उनके साथ भी गाली गलौज की गई। इस दौरान फूड इंस्पेक्टर ने जमकर हंगामा काटा और अधिकारियों को अपशब्द कहे। ऐसे में एसडीएम स्वेता पांडेय ने तुरंत पुलिस अभिरक्षा में उसे मेडिकल परीक्षण कराने के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भेज दिया। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भी मेडिकल परीक्षण के दौरान शराब के नशे में फूड इंस्पेक्टर जमकर अधिकारियों को अपशब्द कहता रहा। उसने महिला एसडीएम को यहां तक कह दिया कि वो कौन सी दूध की धुली है। मैंने तो सिर्फ 10 बियर की केन पी है लेकिन ड्यूटी तो कर रहा हूँ।

BAYAAN- नागेंद्र कुमार (फ़ूड इंस्पेक्टर) इस पूरे मामले को लेकर जिलाधिकारी मनोज कुमार ने बताया कि एसडीएम कुलपहाड़ द्वारा पूरे मामले से अवगत कराया गया है। इस मामले की जांच एडीएम को सौंपी गई है। जांच उपरांत कार्यवाही की जाएगी।

बाइट – मनोज कुमार (डीएम महोबा)

रिपोर्टर:–पंकज कुमार

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button