लाइफस्टाइलस्वास्थ्य

पालक का अधिक सेवन करने से सेहत को होने वाले नुकसान-

शरीर में आयरन की कमी दूर करनी हो या फिर ब्लड प्रेशर करना हो कंट्रोल, दोनों ही चीजों के लिए डॉक्टर पालक खाने की सलाह देते हैं।

Advertisements
AD
शरीर में आयरन की कमी दूर करनी हो या फिर ब्लड प्रेशर करना हो कंट्रोल, दोनों ही चीजों के लिए डॉक्टर पालक खाने की सलाह देते हैं। पालक में कैल्शियम, मैग्नीशियम, आयरन, विटामिन ए, सी और के जैसे जरूरी मिनरल्स और विटामिन मौजूद होने की वजह से इसे सुपरफूड में शामिल किया जाता है। पालक में ग्लाइसेमिक इंडेक्स कम होने की वजह से यह डायबिटीज को कंट्रोल करने में भी मदद करता है। सेहत के लिए इतना गुणकारी होने के बावजूद पालक का जरूरत से ज्यादा सेवन व्यक्ति को फायदे की जगह नुकसान तक पहुंचा सकता है। आइए जानते हैं कैसे पालक का अधिक सेवन करने से व्यक्ति को कौन सी स्वास्थ्य समस्याएं घेर सकती हैं। न्यूट्रिशनिस्ट और वैलनेस एक्सपर्ट वरुण कत्याल ( Varun Katyal, Nutritionist And Wellness Expert) के अनुसार, पालक में ऑक्सालिक एसिड होता है, जो पौधों में प्राकृतिक रूप से पाया जाने वाला यौगिक है। जब शरीर में इस यौगिक की मात्रा सामान्य स्तर से अधिक हो जाती है, तो यह शरीर की अन्य खनिजों को अवशोषित करने की क्षमता को प्रभावित करने लगती है। ऑक्सालिक एसिड जिंक, मैग्नीशियम और कैल्शियम से बंध जाता है जो खनिज की कमी का कारण बन सकता है।
पोषक तत्वों के अवशोषण की समस्या- पालक का अधिक सेवन करने से शरीर में पोषक तत्वों के अवशोषण में समस्या पैदा हो सकती हैं। दरअसल, पालक में मौजूद ऑक्सालिक एसिड जिंक, मैग्नीशियम और कैल्शियम के साथ बंध जाता है, जिससे शरीर पर्याप्त पोषक तत्वों को अवशोषित नहीं कर पाता है, जिससे मिनरल की कमी हो सकती है।  किडनी स्टोन की समस्या- पालक का अत्यधिक सेवन किडनी स्टोन की वजह बन सकता है। पालक में अधिक मात्रा में मौजूद कैल्शियम ऑक्सीलेट आपकी किडनी में छोटे-छोटे स्टोन बनने की वजह बन सकता है। इतना ही नहीं यह अर्थराइटिस की समस्या भी पैदा कर सकता है। अगर आप पहले से ही अर्थराइटिस या जोड़ो के दर्द से परेशान हैं तो पालक का अधिक सेवन करने से बचें।  विटामिन के की अधिकता बढ़ा सकती है परेशानी- पालक में विटामिन के प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। अगर आप रक्त को पतला करने वाली एंटी-कोआग्युलेटिंग दवाएं ले रहे हैं तो पालक का अधिक सेवन इस तरह की दवाओ के साथ प्रतिक्रिया करके आपकी ब्लड क्लॉटिंग की समस्या को बढ़ा सकता है।  पाचन से जुड़ी समस्या- पालक का अधिक सेवन शरीर में फाइबर की मात्रा बढ़ाकर गैस, ब्लोटिंग या पेट में दर्द जैसी समस्याओं का कारण बन सकता है। इतना ही नहीं कई लोगों के लिए तो पालक का अधिक सेवन डायरिया या कब्ज का भी कारण बन जाता है।  कितना खाएं पालक- पालक का सेवन करते समय आपको इस बात का भी ख्याल रखना चाहिए कि आप रोजाना इसका सेवन करने से बचें। पालक का सेवन एक दिन छोड़कर ही करें। इस तरह आप सप्ताह में तीन बार पालक का सेवन कर सकते हैं।
 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button