ब्रेकिंग न्यूज़महाराजगंज

दिव्यांग बुजुर्ग महिला से बड़ौदा बैंक कर्मी बताकर की गई ₹70000 की ठगी

महाराजगंज थाना क्षेत्र के कोटवा मोहम्मदबाद की रहने वाली दिव्यांग काली देई ने जमीन बेचने पर ₹210000 पाए थे,जिसके तीन हिस्सों में दो हिस्से अपने दोनों बेटों को ₹70000 - 70000रु दे दिए अपने हिस्से के पैसों को दिव्यांग महिला ने बड़ी आशा के साथ बुढ़ापे के लिए जीवन यापन के लिए रखे हुए थे।

महाराजगंज थाना क्षेत्र के कोटवा मोहम्मदबाद की रहने वाली दिव्यांग काली देई ने जमीन बेचने पर ₹210000 पाए थे,जिसके तीन हिस्सों में दो हिस्से अपने दोनों बेटों को ₹70000 – 70000रु दे दिए अपने हिस्से के पैसों को दिव्यांग महिला ने बड़ी आशा के साथ बुढ़ापे के लिए जीवन यापन के लिए रखे हुए थे।पैसों के चोरी होने की चिंता को लेकर दिव्यांग महिला ने सोचा कि इसको बैंक में जमा करा दिया जाए ,तो अपने छोटे बेटे से बैंक में एफडी कराने को कहा छोटे बेटे ने गांव के ही अमरनाथ सिंह ने अपने आप को बैंक ऑफ बड़ौदा का मित्र बताकर ₹70000 दिव्यांग महिला से एफडी कराने के नाम पर लिए मन में लालच होने पर बैंक में पैसे ना जमा करके अपने कामों में खर्च कर दिए। जिसके बाद दिव्यांग ने पैसों की जमा रसीद मांगी, तो आनाकानी करने लगे जब महिला ने इसकी सूचना थाने में दी, तो दोनों पक्षों को बुलाकर सुलह समझौता कराया गया और पैसे की राशि 10 जनवरी को देना तय की गई। जब निश्चित समय आने पर दिव्यांग महिला ने पैसे की धनराशि मांगी तो अमरनाथ सिंह आगबबूला होकर छोटे बेटे व दिव्यांग महिला से गाली गलौज की और कहा पैसे नहीं देंगे जो करना हो कर लो वही दिव्यांग महिला जब इसकी शिकायत महाराजगंज थाने लेकर गई , कोई कार्यवाही नहीं की गई महिला पैसे के लिए थाने के चक्कर काटती रही और थाने से जब न्याय नहीं मिला ,तो थक हार कर दिव्यांग महिला ने एसपी कार्यालय की चौखट का दरवाजा खटखटाया। जहां पर पुलिस अधीक्षक से दिव्यांग महिला की मुलाकात नहीं हो पाई पर शिकायत नामा दिव्यांग महिला ने दे दी।अब देखना है की दिव्यांग महिला की शिकायत पर पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी क्या कार्यवाही करते हैं यह एक बड़ा सवाल है। रिपोर्ट-मनीष वर्मा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button