राजनीति

अगर सत्ता में आए तो BJP से तेज राम मंदिर का भव्य निर्माण करेंगे

यूपी विधानसभा चुनाव में भाजपा को कड़ी टक्कर दे रही

यूपी विधानसभा चुनाव में भाजपा को कड़ी टक्कर दे रही समाजवादी पार्टी के राज्यसभा सांसद राम गोपाल यादव ने यह कहकर इस चुनावी जंग को और रोचक कर दिया कि उनकी पार्टी अगर प्रदेश में सत्ता पर आती है तो वे भाजपा से जल्दी समय में अयोध्या में राममंदिर की स्थापना कर देंगे। गोपाल यादव ने ये बयान देकर भाजपा के उस कैडर को अपनी तरफ खींचने की कोशिश की है जिसमें भाजपा लगातार दावा करती रही है कि उनकी पार्टी ने अपने वादे के अनुसार अयोध्या में भव्य राममंदिर की शुरुआत कर दी है। बुधवार को राज्यसभा की कार्यवाही के दौरान समाजवादी पार्टी के सांसद राम गोपाल यादव ने अपनी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव पर अमित शाह द्वारा अयोध्या राम मंदिर निर्माण को रोकने के आरोपों का बचाव किया। उन्होंने कहा कि भाजपा के नेता इस तरह के बयान देकर सपा पर इसलिए हमला कर रहे हैं क्योंकि वे जानते हैं कि जनता अखिलेश यादव को पसंद करती है। उन्होंने दावा किया कि अगर उनकी पार्टी यूपी की सत्ता में वापसी करती है तो वे भाजपा सरकार से जल्दी समय में अयोध्या में भव्य राममंदिर का निर्माण कर सकते हैं। गौर हो कि गृह मंत्री अमित शाह ने चित्रकूट में कहा था कि अखिलेश यादव कितनी भी कोशिश कर लें, मंदिर का काम नहीं रोक सकते। आज राज्यसभा में राम गोपाल यादव ने कहा कि मंदिर का काम कौन रोक रहा है? समाजवादी पार्टी के सांसद ने कहा, “वास्तव में ये लोग मंदिर से चोरी कर रहे हैं, लेकिन अगर अखिलेश यादव की सरकार सत्ता में आती है, तो मंदिर को तेज और बेहतर बनाया जाएगा।” उन्होंने कहा कि अगर समाजवादी पार्टी सत्ता में आई तो मंदिर दान की चोरी रुकेगी। मंदिर में चोरी का आरोप लगाया मंदिर से चोरी के आरोपों पर बोलते हुए समाजवादी पार्टी के सांसद ने कहा कि अयोध्या में स्थानीय भाजपा नेताओं और राम मंदिर ट्रस्ट के कुछ सदस्यों की मिलीभगत से जमीन का फर्जी सौदा हुआ था। दरअसल, समाजवादी पार्टी के नेता आरोप लगा चुके हैं कि राम जन्मभूमि साइट के बगल में स्थित एक संपत्ति का कई गुना मार्कअप पर कारोबार किया गया था और सौदे पर हस्ताक्षर होने के कुछ ही मिनटों में इसकी कीमत 2 करोड़ से बढ़कर 18 करोड़ से अधिक हो गई। हालांकि मंदिर ट्रस्ट ने इन आरोपों को खारिज किया है। यूपी में सत्तारूढ़ भाजपा पर और अधिक हमले करते हुए राम गोपाल यादव ने कहा कि अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दोनों “असंसदीय भाषा का प्रयोग कर रहे हैं। यदि आप अखिलेश यादव को गुंडा कहते हैं, तो क्या जनता आपको वोट देगा?”  राम गोपाल यादव ने कहा, “यह बहुत चिंता का विषय है कि अगर उच्च पदों पर बैठे नेता उत्तर प्रदेश में दंगा भड़काने की कोशिश करते हैं। हर दिन नेता सहारनपुर और देवबंद पहुंचते हैं और भड़काऊ भाषण देते हैं।  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button