बिज़नेसब्रेकिंग न्यूज़

क्रिप्टो करंसी बाजार में जबरदस्त गिरावट

मंगलवार को क्रिप्टो करंसी बाजार में जबरदस्त गिरावट देखने को मिली। क्योंकि शीर्ष क्रिप्टो टोकन ने कुछ ही घंटों में निवेशकों की आधी संपत्ति को घटा दिया। निवेशक डिजिटल संपत्ति बेचने की होड़ में शामिल हो गए हैं।

Cryptocurrency बाजार मंगलवार को अपने सबसे खराब दौर में आ गया। बिटकॉइन 30,000 डॉलर प्रति सिक्का से नीचे गिर गया और लाखों निवेशकों को आतंकित कर दिया है। बाजार में 13 प्रतिशत की गिरावट आई है, जो इस वर्ष का सबसे निचला स्तर है। पिछले साल नवंबर में 69,000 डॉलर के अपने सर्वकालिक उच्च स्तर के बाद से बिटकॉइन 55 प्रतिशत से अधिक नीचे आ गया है।

दूसरी Cryptocurrency कार्डानो (20 प्रतिशत), सोलाना (16 प्रतिशत), एक्सआरपी (13 प्रतिशत), बीएनबी (16 प्रतिशत), और एथेरियम (10 प्रतिशत) को भी दोहरे अंकों में गिरावट का सामना करना पड़ा। विशेषज्ञों ने कहा कि कमजोर आर्थिक गतिविधियों के साथ-साथ बढ़ती ब्याज दरों ने निवेशकों को आशंकित कर दिया है।

टेरा में 49 प्रतिशत से अधिक की गिरावट देखी गई। इससे निवेशकों की आधी संपत्ति का सफाया हो गया, जबकि शीबा इनु की 17 प्रतिशत की गिरावट ने इसे शीर्ष 15 क्रिप्टो टोकन से बाहर कर दिया है। वैश्विक क्रिप्टोकरंसी मार्केट कैप 1.42 ट्रिलियन डॉलर से तेजी से कम हो रहा है। यह पिछले 24 घंटों में लगभग 8 प्रतिशत गिर गया। हालांकि, कुल क्रिप्टोरंसी ट्रेडिंग वॉल्यूम लगभग 85 प्रतिशत बढ़कर 181.90 बिलियन डॉलर हो गया है।

इस बीच, भारत में क्रिप्टो निवेशकों का मूड और खराब हो सकता है। दरअसल माल और सेवा कर (जीएसटी) परिषद क्रिप्टोकरंसी पर 28 प्रतिशत कर लगाने पर विचार कर रही है, जो कि कैसीनो, सट्टेबाजी और लॉटरी पर वर्तमान जीएसटी के बराबर है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, अगर अगली जीएसटी बैठक में प्रस्ताव पारित किया जाता है तो बिक्री और खरीद के साथ-साथ क्रिप्टो माइनिंग जैसी सेवाओं पर 28 प्रतिशत जीएसटी लगने की संभावना है। जीएसटी की अगली बैठक की तारीख अभी तय नहीं हुई है।

एक्‍सपर्ट के मुताबिक बिटकॉइन कल 30,000 डॉलर के स्तर पर आ गया, जो जुलाई 2021 के बाद से सबसे कम है। इसने अपने शॉर्टटर्म अपट्रेंड को तोड़ दिया और अब 27,000 से 30,000 डॉलर के बीच कम समर्थन दिख रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button