स्वास्थ्य

हृदय रोगियों को ठंड के मौसम में विशेष सावधानी की जरूरत

पिछले एक-दो साल के आंकड़ों पर नजर डालें तो पता चलता है कि इस दौरान हृदय रोग, विशेषतौर पर हार्ट अटैक के मामले काफी अधिक देखे गए हैं

हृदय स्वास्थ्य को प्रभावित करने वाले कारक

हृदय स्वास्थ्य पर मौसम और वातावरण का क्या प्रभाव होता है, इस बारे में किए गए अध्ययन में शोधकर्ताओं ने पाया कि तापमान, विटामिन डी, सीरम कोलेस्ट्रॉल स्तर, शारीरिक निष्क्रियता,  हार्मोन, वायु प्रदूषण, संक्रमण, आयु, लिंग, आहार और मोटापा हृदय के लिए जटिलताओं का कारण बन सकती है। इन स्थितियों का हार्ट अटैक के साथ हृदय की सेहत पर कई तरह से नकारात्मक असर होने का खतरा रहता है।

ठंड के मौसम में बढ़ सकती है दिक्कतें

हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ विभव सिंह बताते हैं, ठंड के मौसम में हमारा शरीर स्वाभाविक रूप से तापमान को बैंलेस करते रहने की कोशिश करता है। जब बाहर का तापमान कम होने लगता है तो इसके हिसाब से शरीर को अपना तापमान सेट करने के लिए अधिक मेहनत करनी पड़ती है।

कैसे रखें हृदय को स्वस्थ?

हृदय की सेहत को ठीक रखने के लिए लाइफस्टाइल को ठीक रखना बहुत आवश्यक है। स्वस्थ आहार और नियमित व्यायाम की आदत धमनियों को स्वस्थ रखने और हृदय को बेहतर तरीके से काम करते रहने में मदद करती हैं। सर्दियों में हाई कैलोरी वाले आहार का सेवन कम करें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button