उत्तर प्रदेशदेशब्रेकिंग न्यूज़मथुरा

मथुरा के छाता शुगर मिल को चालू कराने के हाईकोर्ट ने दिए आदेश

मथुरा - पूर्ववर्ती बसपा सरकार में बंद पड़ी हुई छाता शुगर मिल को पुनः चालू कराने के हाईकोर्ट ने आदेश दिए .

मथुरा – पूर्ववर्ती बसपा सरकार में बंद पड़ी हुई छाता शुगर मिल को पुनः चालू कराने के लेकर केबिनेट मंत्री चौधरी लक्ष्मीनारायण के आदेश पर नेशनल फेडरेशन ऑफ कोऑपरेटिव शुगर फैक्ट्रीज के टेक्निकल अडवाइजर ‘मुरलीधर चौधरी’ , चीफ शुगर केन अडवाइजर ‘डॉ. आर बी धोले मय टीम के साथ छाता शुगर मिल का सर्वे करने के लिए शुगर मिल परिसर में गए। जैसे ही टीम के आने की सूचना छाता क्षेत्र में फैली तभी आसपास गाँवो के गणमान्य लोग छाता शुगर मिल पर पहुँच गए।

वही कैबिनेट मंत्री प्रतिनिधि नरदेव चौधरी भी अपने दलबल के साथ शुगर मिल परिसर में पहुँचकर दिल्ली से आये अधिकारियों से बातचीत की और अधिकारियों को जर्जर हालत में पड़ी छाता शुगर मिल का सर्वे करवाया और पूर्व में छाता क्षेत्र में हो रहे गन्ने का रिकॉर्ड ई डी लखनलाल ने अधिकारियों को दिखाया। वही अधिकारियों ने शुगर मिल के बंद होने का कारण वहां पर मौजूद लोगों से पूछा तो मौजूदा लोगो ने जवाब दिया कि गन्ना भुगतान लेट होने के कारण व पूर्व में मौजूद कर्मचारियों की लापरवाही के कारण ये शुगर मिल बन्द हुई है। वही किसानों ने कहा कि ये छाता शुगर मिल आगरा मंडल की एक मात्र शुगर मिल है। इस मिल को बंद होने से किसान कंगाली की ओर आ गया है। इस मिल को चालू कराने के लिए किसानों ने बहुत बार आंदोलन किये। इस मिल को चालू कराने को लेकर सपा सरकार में मुख्यमंत्री रहे अखिलेश यादव से किसानों के एक प्रतिनिधिमंडल ने मुलाकात की।

अखिलेश यादव ने प्रतिनिधमंडल से कहा कि जल्द ही सर्वे करवाकर मिल को जल्द ही चालू करवाया जाएगा। कुछ दिनों पश्चात छाता शुगर मिल का सर्वे भी हो गया रिपोर्ट शासन तक पहुँच गई लेकिन मिल चालू नही हुई। वही अधिकारियों ने किसानों को आश्वासन देते हुए कहा है। कि हम इस छाता शुगर मिल को नई तकनीक से लेटस्ट टेक्नोलॉजी से बनवाकर डेढ़ से दो साल के अंदर हर हाल में चालू करवा कर रहेंगे। ततपश्चात अधिकारियों द्वारा छाता क्षेत्र के कुछ गाँवो में हो रहे गन्ने की पैदावार का निरीक्षण भी किया गया।

रिपोर्टर – प्रताप सिंह

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button