स्वास्थ्य

दोबारा संक्रमण की स्थिति में ऑर्गन फेलियर का खतरा अधिक

चीन-जापान सहित दुनिया के कई देशों में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामले इस समय स्वास्थ्य विशेषज्ञों और वैज्ञानिकों के लिए चिंता का कारण बने हुए हैं

 कोरोना के बढ़ते खतरे को लेकर अलर्ट करते हुए वैज्ञानिकों की सलाह है कि सभी देशों को बचाव के उपायों को लेकर सख्ती दिखाने की आवश्यकता है। अब तक के शोध में पाया गया था कि कोरोना संक्रमित रहे लोगों में दोबारा संक्रमण होने पर गंभीर रोग का खतरा कम होता क्योंकि पहले संक्रमण के बाद शरीर में प्रभावी एंटीबॉडी और मेमेरी सेल्स बन जाती हैं, जो अगले संक्रमण से बचाने में आपकी मदद करती हैं। पर एक हालिया शोध में वैज्ञानिकों ने पाया कि कोरोना का दोबारा होने वाला संक्रमण आपमें ऑर्गन फेलियर के खतरे का कारण बन सकता है

कोरोना का दोबारा संक्रमण हो सकता है गंभीर

वाशिंगटन यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन और वेटरन्स अफेयर्स सेंट लुइस हेल्थ केयर सिस्टम के एक नए अध्ययन में वैज्ञानिकों ने पाया कि कोरोना के दोबारा संक्रमण की स्थिति गंभीर स्वास्थ्य स्थितियों का कारण बन सकती है। शोधकर्ताओं ने पाया कि बार-बार होने वाला सार्स-सीओवी-2 का संक्रमण कई अंग प्रणालियों को गंभीर रूप से प्रभावित कर सकता है

अध्ययन में क्या पता चला?

इस अध्ययन के लिए शोधकर्ताओं ने 5.3 मिलियन (53 लाख) लोगों का एक डेटा सेट बनाया, जिन्हें 1 मार्च, 2020 से 6 अप्रैल, 2022 के बीच कोरोना का संक्रमण हुआ था। इसमें 443,000 से अधिक लोग ऐसे थे जिन्हें सिर्फ एक बार संक्रमण हुआ था, वहीं लगभग 41,000 लोगों को दो या उससे अधिक बार संक्रमित पाया गया। कुछ लोग चार और पांच संक्रमण वाले भी थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button