क्राइम न्यूज़

जिसे नेचुरल डेथ मान रहे थे सब, वो निकला मर्डर, 10 साल के बेटे ने इस तरह बेनकाब किए पिता के हत्यारे

बेंगलुरु में रहने वाले एक व्यक्ति की मौत को नेचुरल डेथ माना जा रहा था, लेकिन कुछ दिन बाद हुई प्रार्थना सभा में मृतक के बेटे ने चौंकाने वाला खुलासा किया. उसने अपने दादा को बताया कि उसके पिता की मौत नहीं बल्कि हत्या हुई है.

जिसे नेचुरल डेथ मान रहे थे सब, वो निकला मर्डर, 10 साल के बेटे ने इस तरह बेनकाब किए पिता के हत्यारे
 एक बेटे (Son) ने अपने पिता (Father) के हत्यारों को बेनकाब कर दिया. बेंगलुरु (Bengaluru) के बाहरी इलाके कारेनहल्ली में रहने वाले 40 वर्षीय एन. राघवेंद्र (N Raghavendra) की मौत को पहले नेचुरल डेथ यानी प्राकृतिक कारणों से हुई मौत माना जा रहा था, लेकिन उनके 10 वर्षीय बेटे ने हत्यारों की साजिश को सबके सामने रख दिया. मौत के बाद हुई प्रार्थना सभा में राघवेंद्र के बेटे ने बताया कि उसके पिता को मौत के घाट उतारा (Murder) गया था और यह सबकुछ एक बाहरी व्यक्ति की मौजूदगी में हुआ.

पति के भाई को बताई झूठी कहानी

हमारी सहयोगी वेबसाइट WION में छपी खबर के अनुसार, एन. राघवेंद्र बेंगलुरु (Bengaluru) के बाहरी इलाके कारेनहल्ली स्थित अपने घर पर मृत पाए गए थे. उनकी 30 वर्षीय पत्नी शैलजा (Shylaja) ने अपने पति के भाई, शेखर को लगभग 2 बजे यह दावा करते हुए फोन किया कि राघवेंद्र (Epileptic Attack) मिर्गी के दौरे के चलते गिर गए हैं. जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया,  जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया

इस तरह सामने आई हत्या की साजिश

कुछ दिन बाद, परिवार ने मृतक के लिए एक प्रार्थना सभा आयोजित की, जिसमें शैलजा और उसके बच्चे भी उपस्थित थे. इस दौरान अपने दादा नंजुंदप्पा से बात करते हुए, राघवेंद्र के 10 वर्षीय बेटे ने कहा कि जिस दिन उसके पिता की मृत्यु हुई उस दिन घर में एक और व्यक्ति था. इसके बाद उन्होंने बच्चे से पूरी कहानी बताने को कहा, तब जाकर मामले का खुलासा हो सका.

सिर पर किए थे बेलन से कई वार  

लड़के ने बताया कि वो शोर के कारण आधी रात को उठा था. उसने देखा कि उसकी मां और नानी उसके पिता को नीचे दबाए हुए हैं. जबकि एक अन्य व्यक्ति उनके सिर पर बेलन से वार कर रहा है. लड़के ने कहा, ‘जब मैंने उनसे पूछा कि वे मेरे पिता को क्यों मार रहे हैं. तब दूसरे आदमी ने मुझे जोर से मारा और कहा कि अपना मुंह बंद रखना और इस बारे में किसी को कुछ नहीं बताना वरना तुझे मार डालूंगा. मैं डर गया और वापस बिस्तर पर चला गया’.

अफेयर पर सवाल से आजिज आ गई थी Wife

लड़के की बात सुनने के बाद उसके चाचा शेखर ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई. जिसके आधार पर पुलिस ने शैलजा, उसकी मां लक्ष्मीदेवम्मा (50) और हनुमंथा (30) को गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ में पता चला कि हनुमंथा और शैलजा का अफेयर चल रहा था. पुलिस ने बताया कि राघवेंद्र ने शैलजा से हनुमंथ के साथ उसके संबंधों के बारे में कई बार पूछताछ की थी, इसलिए दोनों ने मिलकर उसकी हत्या करने की योजना बनाई.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button