गोरखपुर

गोरखपुर में फैला है हास्पिटल माफिया का जाल

गोरखपुर शहर में सक्रिय हास्पिटल माफिया के आगे स्वास्थ्य व्यवस्था पंगु नजर आ रही है। जिला अस्पताल व बीआरडी मेडिकल कालेज के पास सक्रिय गिरोह के सदस्य अच्छे उपचार का झांसा देकर 15 से 25 हजार रुपये में मरीज को निजी अस्पताल संचालकों को बेच रहे हैं।

इनकी अदावत में कमिश्नर, डीआइजी और जिला अस्पताल के बाहर वारदात हो चुकी है। पुलिस व प्रशासन पिछले छह माह में अवैध रुप से चलने वाले 35 हास्पिटल पर कार्रवाई किए जाने का दावा कर रहा है लेकिन कहीं पर भी इसका असर नहीं दिख रहा।29 जुलाई की सुबह डीआइजी बंगले के सामने स्थित हास्पिटल के सामने फायरिंग से हड़कंप मच गया। इस घटना के बाद पुलिस ने जांच शुरू की तो पता चला कि हास्पिटल माफिया के बीच चल रही अदावत में यह वारदात हुई है। मरीज को अस्पताल भेजने के बाद कमिशन न मिलने पर एक गुट के लोगों ने वारदात को अंजाम दिया है। घटना के बाद सक्रिय हुए प्रशासन व पुलिस के अधिकारियों ने जांच कराई तो पता चला कि पेशेवर बदमाश अब अवैध हास्पिटल चला रहे हैं। निजी एंबुलेंस चालकों की मदद से उन्होंने अपना गिरोह बनाया है जो जिला अस्पताल व बीआरडी में परेशान मरीज व उनके तीमारदार को झांसा देकर अपने नेटवर्क के अस्पताल पहुंचाता है जहां पहुंचते ही वसूली शुरू हो जाती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button