लाइफस्टाइल

डिटॉक्स वॉटर से कैसे होता है वेट लॉस? जानें ज्यादा डिटॉक्स करने के कई साइड इफेक्ट्स भी हैं।

हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना है कि सप्ताह में एक बार बॉडी को डिटॉक्स जरूर करना बहुत जरूरी होता है

हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना है कि सप्ताह में एक बार बॉडी को डिटॉक्स जरूर करना बहुत जरूरी होता है। डिटॉक्सिफिकेशन से शरीर से विषैले पदार्थ (टॉक्सिन) निकल जाते हैं और शरीर को पोषक तत्व मिलते हैं, इससे हमारी किडनी, त्वचा, फेंफड़े भी हेल्दी रहते हैं। शरीर को डिटॉक्स करने के लिए आपको कुछ पेय पदार्थों का सेवन करना बहुत जरूरी होता है। डिटॉक्स, बॉडी और ब्रेन को रिफ्रेश करके हेल्दी बनाने का प्रोसेस है। बॉडी को डिटॉक्स करन उन लोगों के लिए तो बहुत ही जरूरी है, जो बहुत ज्यादा जंक फूड खाते हैं। बॉडी डिटॉक्सिफिकेशन से वेट लॉस भी किया जा सकता है लेकिन क्या आप जानते हैं बॉडी को ज्यादा डिटॉक्स करने के कई साइड इफेक्ट्स भी हैं। डिटॉक्स वॉटर क्या है?  आसान शब्दों में कहें, तो डिटॉक्स वाटर सिर्फ सब्जियों या फलों के स्लाइस के साथ पीने का साफ पानी है। एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर कच्चे फलों और सब्जियों को मिलाने से पानी में पोषक तत्वों की मात्रा बढ़ जाती है जो पीने पर सादे पानी पीने से ज्यादा फायदेमंद है। वेट लॉस में कैसे कारगर है डिटॉक्स वॉटर  एंटीऑक्सीडेंट और पोषक तत्वों से भरपूर डिटॉक्स वॉटर  बॉडी के लिए बहुत जरूरी है। पानी में मिलाई गई पौष्टिक चीजों पर निर्भर करता है कि यह कितना फायदेमंद है। उदाहरण के लिए, यदि आप अदरक डालते हैं, तो यह आपके पेट की प्रॉब्लम्स को दूर करता है। वहीं, पानी में खीरा मिलाकर पीने से आपकी स्किन और डाइजेशन दोनों पर इसका असर पड़ेगा। इसमें आप काली मिर्च, पुदीना भी मिला सकते हैं, जिससे आपको एसिडिटी की प्रॉब्लम से भी मुक्ति मिलेगी। इस पानी को पीने के बाद आपका पेट भरा-भरा रहता है, जिससे आपको स्नैक्स खाने की क्रेविंग भी नहीं होती। डिटॉक्स वॉटर को इम्युनिटी बढ़ाने, पीएच को बैलेंस करने और शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकालने के लिए बेहद कारगर माना जाता है। कौन-से डिटॉक्स वॉटर कारगर हैं डिटॉक्स वॉटर में कौन-सी चीजें मिलाई गई हैं, इसे आधार पर ही डिटॉक्स वॉटर की गुडनेस का पता चलता है। डिटॉक्स वॉटर में केवल कटी हुई सब्जियां या फल ही डालने चाहिए। पाउडर या लिक्विड फॉर्म में कभी भी पानी में कुछ न मिलाएं। कुछ कारगर डिटॉक्स वॉटर- पुदीना-ककड़ी डिटॉक्स वॉटर नीबू-ककड़ी डिटॉक्स वॉटर अदरक-हल्दी डिटॉक्स वॉटर लेमन-बेरी डिटॉक्स वॉटर नीबू-अनानास-नारियल डिटॉक्स वॉटर आम-अदरक डिटॉक्स वॉटर तरबूज-तुलसी डिटॉक्स वॉटर तरबूज-पुदीना-नींबू डिटॉक्स वॉटर संतरा-नीबू-नीबू डिटॉक्स वॉटर
ज्यादा डिटॉक्स वॉटर पीने से क्या होता है?  स्वाद से भरपूर डिटॉक्स वॉटर बहुत फायदेमंद है लेकिन एक दिन में बहुत ज्यादा डिटॉक्स वॉटर न पिएं। शरीर को ज्यादा हाइड्रेट करने के कई नुकसान भी हैं। जब बॉडी में ज्यादा पानी की मात्रा हो जाती है, तो  हाइपोनेट्रेमिया नाम की समस्या हो जाती है। ऐसे में शरीर पानी के साथ सोडियम और पोटैशियम जैसे जरूरी  इलेक्ट्रोलाइट्स को भी बाहर निकाल देता है। इससे व्यक्ति को जी मिचलाना, उल्टी और चक्कर आने की समस्या हो सकती है। ऐसे में दिन में 1-2 लीटर से ज्यादा डिटॉक्स वॉटर नहीं पीना चाहिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button