बिज़नेसब्रेकिंग न्यूज़

रुपये के गिरने से आपकी सेहत पर क्या पड़ेगा फर्क

रुपये के कमजोर होने पर भारत को महंगे कीमत में क्रूड ऑयल को आयात करना पड़ता है जिससे पेट्रोल-डीजल की कीमत बढ़ने का अंदेशा रहता है।

रुपये में गिरावट का दौर जारी है। हर गुजरते दिन के साथ रुपया गिरावट का नया स्तर छू रहा है। लेकिन रुपये के गिरने की वजह से आम लोगों पर क्या फर्क पडे़गा। क्या यह चिंता की वजह है या रुपये गिरना फायदेमंद है? आखिर कौन रुपये की हालात को निर्धारित करता है?

रुपये की कमजोरी से आम लोगों की सेहत पर क्या होगा असर

अगर रुपये की कीमत गिरती है, तो विदेशों से सामान मंगाना महंगा हो जाता है। इसका सटीक उदाहरण, क्रूड ऑयल का आयात है। भारत दुनिया का बड़ा तेल आयातक देश है। ऐसे में अगर रुपये कमजोर होता है, तो भारत को ज्यादा रुपयों मे तेल खरीदना पड़ता है, क्योंकि ईरान को छोड़ दें, तो आमतौर पर भारत क्रूड ऑयल की खरीद डॉलर में करता है। ऐसे में रुपये के कमजोर होने पर भारत को महंगे कीमत में क्रूड ऑयल को आयात करना पड़ता है, 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button