उत्तर प्रदेशरायबरेली

रायबरेली में गौशाला संचालक ने पशुओं को गौशाला में लेने से कर दिया मना ,नाराज किसानों ने अधिकारियों को दी सूचना ,लेकिन उन्होंने भी कर दिया अनसुना

गांव के सैकड़ो निवासी सैकड़ो की संख्या में छुट्टा गौवंशो को लेकर गौशाला पहुचे।लेकिन गौशाला संचालक ने पशुओं को गौशाला में लेने से मना कर दिया।नाराज किसानों ने अधिकारियों को सूचना दी लेकिन उन्होंने भी अनसुना कर दिया

प्रदेश की योगी सरकार छुट्टा गौवंशो के संरक्षण के लिए अरबो रुपये पानी की तरह बहा रही है।लेकिन जिनके कंधों पर ये जिम्मेदारी दी गई है उनकी खाऊ कमाई नीति के कारण ये गौवंश किसानों के लिए आफत बन गए है।अधिकारी किसानों से इन गौवंशो को पकड़ कर गौशाला में देने की अपील जरूर करते है लेकिन जब किसान इनको लेकर गौशाला पहुँचते है तो गौशाला संचालक उन्हें उल्टे पैर लौटा देते है और अधिकारी भी उनकी सुनने को तैयार नही है।ताजा मामला सरेनी विकासखंड में देखने को मिला जब घुरेमऊ गांव के सैकड़ो निवासी सैकड़ो की संख्या में छुट्टा गौवंशो को लेकर गौशाला पहुचे।लेकिन गौशाला संचालक ने पशुओं को गौशाला में लेने से मना कर दिया।नाराज किसानों ने अधिकारियों को सूचना दी लेकिन उन्होंने भी अनसुना कर दिया वीओ- जानकारी के अनुसार जिले के सरेनी विकासखंड के घुरेमऊ गांव के ग्रामीण खेतो में खड़ी फसल को नुकसान पहुचा रहे सैकड़ो गौवंशो को खदेड़ कर गौशाला पहुचे।लेकिन गौशाला में मौजूद कर्मचारियों ने न तो गौशाला का गेट खोला और न गौवंशो को अंदर किया।जिससे ग्रामीण आक्रोशित हो गए और उन्होंने प्रधान व अधिकारियों से गुहार लगाई लेकिन किसी ने भी उनकी समस्या को गंभीरता से नही लिया। रिपोर्ट-मनीष वर्मा  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button