मनोरंजन

बेहद दुखभरी थी इस एक्ट्रेस की कहानी, सगाई के बाद एक हादसे में हो गई थी मंगेतर की मौत, ताउम्र नहीं की शादी

मनमोहन देसाई (Manmohan Desai) की मौत के 10 साल बाद 2014 में नंदा (Nanda) की भी हार्ट अटैक से मौत हो गई और इस तरह दोनों की प्रेम कहानी का दुखद अंत हो गया

जाने-माने फिल्ममेकर मनमोहन देसाई (Manmohan Desai) की 2 मार्च को 28वीं डेथ एनिवर्सरी है. उनकी सगाई अपने ज़माने की चर्चित अभिनेत्री नंदा (Nanda) से हुई थी लेकिन दोनों शादी नहीं कर पाए जिसके पीछे एक दर्दनाक वजह छुपी हुई है. नंदा के भाई जयप्रकाश विनायक ने एक इंटरव्यू में नंदा और मनमोहन देसाई की लव स्टोरी पर कुछ बातें शेयर की हैं. उन्होंने बताया कि छोटी बहन, धूल का फूल, काला बाजार, कानून, हम दोनों, जब जब फूल खिले, गुमनाम, इत्तेफाक जैसी फिल्मों में काम कर चुकीं नंदा कैसे 80 के दशक में फिल्ममेकर मनमोहन देसाई के करीब आई थीं. जयप्रकाश विनायक बोले, तकरीबन 12 साल के रिश्ते के बाद दोनों ने 1992 में सगाई कर ली थी लेकिन इसके दो साल बाद ही 1994 में मनमोहन देसाई की अपार्टमेंट की बालकनी से गिरने से अचानक मौत हो गई. नंदा को उनकी मौत से गहरा सदमा लगा और इसके बाद वह अकेली रह गईं. उन्होंने किसी ओर से शादी नहीं की. मनमोहन देसाई की मौत के 10 साल बाद 2014 में नंदा की भी हार्ट अटैक से मौत हो गई और इस तरह दोनों की प्रेम कहानी का दुखद अंत हो गया. जयप्रकाश विनायक ने आगे बताया कि मनमोहन देसाई शादीशुदा थे और उनके बेटे ने नंदा के साथ उनके रिश्ते को आगे बढ़ाने में अपने पिता की मदद की थी. इसमें उन्होंने वहीदा रहमान की मदद ली थी. वहीदा जी ने अपने घर पर एक डिनर दिया. डिनर के बाद नंदा और मनमोहन देसाई को अकेले छोड़ दिया.
इस दौरान मनमोहन देसाई ने अपनी फीलिंग्स नंदा से शेयर करते हुए उन्हें शादी के लिए प्रपोज किया. नंदा ने उनसे कहा कि वो इसपर अपने परिवार से बात करेंगी.दोनों ट्रेडिशनल वेडिंग करना चाहते थे लेकिन ये इच्छा अधूरी रह गई. नंदा ने देसाई की मौत के बाद सफेद कपड़े ही पहने और किसी से मिलना जुलना भी बंद कर दिया.  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button