उत्तर प्रदेश

रायबरेली पुलिस को टप्पेबाजी की सूचना देना दो आरोपियों को महंगा पड़ गया

यूपी की रायबरेली पुलिस को टप्पेबाजी की सूचना देना दो आरोपियों को महंगा पड़ गया।पुलिस जांच पड़ताल के बाद उन्हें ही गिरफ्तार कर लिया और उनसे सच कबूलवा लिया

यूपी की रायबरेली पुलिस को टप्पेबाजी की सूचना देना दो आरोपियों को महंगा पड़ गया।पुलिस जांच पड़ताल के बाद उन्हें ही गिरफ्तार कर लिया और उनसे सच कबूलवा लिया।दोनों आरोपियों की मंशा थी कि वो अपने मालिक के पैसे को हजम कर अपने जुएं के शौक को पूरा करेंगे।लेकिन सलोन पुलिस ने उनके इरादों पर पानी फेर दिया। पुलिस अधीक्षक कार्यालय परिसर में खाकी की गिरफ्त में मौजूद ये शख्स मो कैफ व रजत है जोकि लखनऊ के खदरा क्षेत्र के निवासी है और वंहा के एक बिस्किट व्यापारी के यंहा गाड़ी चलाने का काम करते है।1 जनवरी को कैफ ने डायल 112 पर सूचना दी कि दो व्यक्तियों ने जिन्होंने उससे प्रतापगढ़ के लालगंज से लिफ्ट मांगकर लखनऊ जाने के लिए गाड़ी में बैठ गए थे उन्होंने सलोन के पास एक होटल पर उसके साथ चाय पी और फिर दूसरी गाड़ी से चले गए।जब वो अपनी गाड़ी में पहुचा तो बिस्किट की सप्लाई से मिले एक लाख नब्बे हजार रुपये जोकि उसकी गाड़ी में रखे थे उन्हें उठा ले गए।सूचना पर पहुची पुलिस ने मामले की जांच पड़ताल की और रास्ते के सीसीटीवी फुटेजों को भी खंगाला लेकिन उन्हें कुछ नही मिला तो उन्हें कैफ पर शक हुआ और जब उससे कड़ाई से पूछताछ की गई तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया।उसने बताया कि लखनऊ के ही अपने साथी रजत के साथ मिलकर उसने वसूली के रुपयों पर हाथ साफ करने के लिए पुलिस को झूठी सूचना दी थी।पुलिस ने आरोपियों के पास से एक लाख नब्बे हजार रुपये भी बरामद कर लिए।दोनों आरोपी जुए के लती है और जुआ खेलने व एक बाइक लेने के लिए उन्होंने ये साजिश रची थी लेकिन पुलिस ने उनके मंसूबो पर पानी फेर दिया। रिपोर्ट मनीष वर्मा  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button