विदेश

ऑस्ट्रेलिया से भारत कैसे पहुंचा कंगारू, अंतरराष्ट्रीय तस्करी से जुड़ा सवाल

पश्चिम बंगाल पुलिस ने हाल ही में एक सनसनीखेज मामले में एक कंगारू के साथ दो हैदराबादी लोगों को गिरफ्तार किया है

पश्चिम बंगाल पुलिस ने हाल ही में एक सनसनीखेज मामले में एक कंगारू के साथ दो हैदराबादी लोगों को गिरफ्तार किया है। यह मामला इसलिए भी चौंकाने वाला है क्योंकि कंगारू सिर्फ ऑस्ट्रेलिया में पाए जाते हैं। यह पता नहीं चल पाया है कि कंगारू भारत में कैसे पहुंच गया। पुलिस ने जिन दो लोगों को गिरफ्तार किया है, उनसे पूछताछ की जा रही है। बताया जा रहा है कि यह मामला अंतरराष्ट्रीय तस्करी से जुड़ा हुआ हो सकता है।

दरअसल, यह घटना पश्चिम बंगाल के अलीपुरद्वार जिले की है। पीटीआई की एक रिपोर्ट के मुताबिक एक माल वाहन से एक कंगारू को छुड़ाया गया और हैदराबाद के दो लोगों को तस्करी में शामिल होने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि एक गुप्त सूचना पर कार्रवाई करते हुए पुलिस की एक टीम ने असम-पश्चिम बंगाल सीमा के पास बरोबिशा इलाके में राष्ट्रीय राजमार्ग-31 पर एक मिनी ट्रक को रोका और इसे पकड़ा।

एक अन्य मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पकड़े गए दोनों लोगों ने पुलिस को बताया कि वे कंगारू को इंदौर के एक चिड़ियाघर में भेज रहे थे। लेकिन इस मामले को लेकर उनके पास ना तो कोई कागजात थे और ना ही सबूत। बताया जा रहा है कि इन दोनों को मिजोरम के प्राइवेट पशु फॉर्म मालिक ने कंगारू दिया था। लेकिन किसी को यह समझ नहीं आ रहा है कि आखिर कंगारू ऑस्ट्रेलिया से मिजोरम कैसे पहुंच गया।

उधर इंदौर चिड़ियाघर पार्क क्यूरेटर का कहना है कि मिजोरम के एक एनजीओ ने अपनी मर्जी से इस कंगारू को चिड़ियाघर को देने की पेशकश की थी। पुलिस ने जिन दोनों को गिरफ्तार किया है उनमें 33 साल के शेख इमरान और 32 साल के शेख जावीद शामिल हैं। इन दोनों के खिलाफ आईपीसी की कई धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। इनमें पशु क्रूरता निवारण अधिनियम की धाराएं भी शामिल हैं। 

इस मामले में जांच शुरू हो गई लेकिन यह पता नहीं चल पाया कि यह कंगारू आया कहां से है। मामले में चिड़ियाघर के अधिकारियों और मध्य प्रदेश सरकार को पत्र लिखकर पूरे मामले की जानकारी भी मांगी गई है। बता दें कि कंगारू सिर्फ ऑस्ट्रेलिया में ही पाए जाते हैं। इनका मुख्य भोजन घास पात और फल आदि होते हैं। इनका सिर छोटा जबड़ा भारी और टांगें छोटी होती हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button