देश

गगनयान कार्यक्रम में मिलेगी मदद इसरो ने किया रॉकेट के लिए इंजन परीक्षण

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने हाई थ्रस्ट डेवलप इंजन का सफलतापूर्वक परीक्षण किया है. यह परीक्षण तमिलनाडु के महेंद्रगिरि में इसरो प्रोपल्शन कॉम्प्लेक्स (आईपीआरसी) में किया गया.

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने हाई थ्रस्ट डेवलप इंजन का सफलतापूर्वक परीक्षण किया है. यह रॉकेट को शक्ति प्रदान करेगा और मनुष्यों को अंतरिक्ष में लेकर जाएगा. इसरो के अनुसार, गगनयान/मानव अंतरिक्ष मिशन के डेवलप इंजन पर तमिलनाडु के महेंद्रगिरि में इसरो प्रोपल्शन कॉम्प्लेक्स (आईपीआरसी) में 25 सेकंड के लिए परीक्षण किया गया.

पहले भी दो इंजनों पर किया जा चुका है परीक्षण

भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी ने कहा कि पहले से ही दो इंजनों का 480 सेकंड समय तक परीक्षण किया जा चुका है. गुरुवार को किया गया परीक्षण सामान्य परिचालन स्थितियों (ईंधन-ऑक्सीडाइजर अनुपात और चैंबर दबाव) से अलग इंजन की मजबूती की जांच करने के लिए था. इंजन के प्रदर्शन ने परीक्षण के उद्देश्यों को पूरा किया और इंजन के पैरामीटर परीक्षण के दौरान काफी हद तक सफल रहे.

240 सेकंड का होगा अगला परीक्षण

इसके अलावा  75 सेकंड के समय के लिए तीन और परीक्षणों की योजना बनाई गई है. इसरो ने कहा कि इसके बाद गगनयान कार्यक्रम के लिए विकसित किए गए इंजन को अपनी क्षमता साबित करने के लिए 240 सेकंड की अवधि के परीक्षण से भी गुजरना होगा.  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button