देश

संसद में उठा मैरिटल रेप पर कानून बनाने का मुद्दा, स्मृति ईरानी ने विपक्षी सांसद को दिया ये जवाब

देश में अक्सर उठने वाले कथित मैरिटल रेप (Marital Rape) के मामलों पर एक बार फिर सरकार ने अपनी राय स्पष्ट की है. इस मुद्दे पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने बुधवार को संसद में बड़ा बयान दिया.

देश में अक्सर उठने वाले कथित मैरिटल रेप (Marital Rape) के मामलों पर एक बार फिर सरकार ने अपनी राय स्पष्ट की है. इस मुद्दे पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) ने बुधवार को अहम बयान दिया.

‘सभी पुरुषों को बलात्कारी कहना सही नहीं’

संसद में पेश बजट (Union Budget 2022) पर हुई चर्चा के दौरान स्मृति ईरानी (Smriti Irani) ने कहा कि वैवाहिक जीवन में यौन हिंसा का समर्थन नहीं किया जा सकता लेकिन इसकी आड़ में सभी पुरुषों को बलात्कारी कहना भी ठीक नहीं है. उन्होंने कहा कि देश की हर शादी की निंदा करना ठीक नहीं है.

‘जरूरतमंद महिलाओं को दी जा रही मदद’

दरअसल सीपीआई सांसद बिनॉय विश्वम (CPI MP Binoy Vishwam) ने बजट सत्र के दौरान ‘वैवाहिक जीवन में यौन हिंसा’ पर एक सवाल पूछा था. इस सवाल का जवाब देते हुए स्मृति ईरानी (Smriti Irani) ने कहा कि मौजूदा समय में महिलाओं से जुड़े मामलों में मदद करने के लिए पूरे भारत में 30 से अधिक हेल्पलाइन कार्यरत हैं. इन हेल्पलाइनों के जरिए 66 लाख से अधिक महिलाओं की सहायता की गई.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button