जालौनदेशब्रेकिंग न्यूज़

जालौन-पीढ़ियों से बिकलांगता का दंश झेल रहा मंटू का परिवार

कुदरत का भी खेल निराला हैं इसको समझना इंसान के बस की बात नहीं हैं। जनपद जालौन के उरई मे हरिशंकर राठौर का परिवार हैं जो पीढ़ी दर पीढ़ी बिकलांगता का श्राप झेलने को मजबूर हैं

-कुदरत का भी खेल निराला हैं इसको समझना इंसान के बस की बात नहीं हैं। जनपद जालौन के उरई मे हरिशंकर राठौर का परिवार हैं जो पीढ़ी दर पीढ़ी बिकलांगता का श्राप झेलने को मजबूर हैं।पत्रकारों से बात करके हरिशंकर ने बताया की हमारे पिता बिल्कुल स्वथ्य थे मानवता के लिए उन्होंने बिकलांग से शादी की। उन्हें नहीं पता था की उनका यह कदम परिवार के लिए श्राप बन जायेगा। उन्होंने बताया की वह सुखदेव, जानकी प्रसाद, ग्याप्रसाद और तारावती मिलाकर पांच लोग हैं उनकी बहन पूर्णतया स्वास्थ्य थी लेकिन उनका पुत्र अनिल कुमार बिकलांग पैदा हुआ। इस तरह मामा और भांजा सभी बिकलांग हो गये। उन्होंने बताया की उनके चचेरे भाई सियाराम को भी शिवकुमार बिकलांग पुत्र पैदा हुआ

रिपोर्ट -रविकांत द्विवेदी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button