उत्तर प्रदेशकानपुर नगर

कानपुर हादसा:- सड़क सुरक्षा प्राथमिकता का विषय होना चाहिए-सीएम योगी

दुर्घटनाओं के नियंत्रण के लिए विभागों को निर्देश दिए-सीएम

Advertisements
AD

कानपुर में हुए हादसे में घायलों से सीएम योगी ने अस्पताल पहुंचकर उनका हाल जाना है…….सीएम योगी ने अस्पताल में भर्ती 9 लोगों को देखा उनसे बातचीत की, उनका हाल जाना है, जिसके बाद सीएम योगी ने कहा कि सभी लोग खतरे के बाहर है, मेडिकल कालेज की टीम उपचार कर रही है…..हासदे में जो 26 जाने दुर्घटना में गई थी, उन सभी के अंतिम संस्कार की कार्रवाई लगभग पूरी होने जा रही है……अधिकारी भी मौके पर है, कानपुर नगर से जुड़े जनप्रतिनिधि भी पीड़ितों की सेवा में लगे है…… इस मौके पर सीएम योगी ने कहा कि सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए जागरुकता बढ़ाने की जरूरत है……..ट्राली ट्रैक्टर से सवारी न ले जाई जाए, जिससे जनहानि रोकी जा सकती है…….. जागरुकता के लिए भी काम करने की जरूरत है………..सीएम योगी ने कहा कि जागरूगता के कार्यक्रम को आगे बढ़ाने को हमने कहा है, इस कार्यक्रम को हम आगे बढ़ाएंगे, सड़क विभाग, गृह विभाग, सड़क परिवहन , एजेंसियो को खामियां दूर करने करने के लिए भी सहयोग करने को कहा है …………आपको बता दें कि सड़क हादसों में आए दिन लोगों की मौतें हो रही है लेकिन विभाग के अधिकारी इसपर जागरुगता फैलाने या सड़क हादसों को रोकने के प्रयास के बजाए लापरवाही में अधिक प्रतीत होते है….जिससे आए दिन ऐसी दुर्घटनाएं देखने को मिल रही है………….

कानपुर में शनिवार को हुए ट्रैक्‍टर ट्रॉली हादसे में अब तक 26 लोग जान गंवा चुके हैं…… 20 से अधिक लोग अस्‍पताल में भर्ती हैं……… बताया जा रहा है कि ट्रैक्‍टर पर करीब 50 लोग सवार थे………. हादसे के बाद इसकी वजहों की पड़ताल की जा रही है……… इस बीच सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने ट्वीट कर लोगों से ऐसे हादसों से बचने के लिए एक महत्‍वपूर्ण अपील की है। सीएम ने कहा है कि ट्रैक्‍टर ट्रॉली का इस्‍तेमाल सवारियों को ढोने के लिए न किया जाए। सिर्फ खेती-किसानी और माल ढुलाई के लिए ही इनका इस्‍तेमाल किया जाना चाहिए। गौरतलब है कि ग्रामीण इलाकों में अक्‍सर लोग कार्यक्रमों में समूह में आने-जाने के लिए ट्रैक्‍टर ट्रॉली का इस्‍तेमाल करते हैं।सीएम ने कानपुर हादसे पर गहरा दु:ख जताते हुए अधिकारियों से घायलों का उचित इलाज सुनिश्चित कराने का आदेश दिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button