वीडियो

कानपुर हिंसा में 1000 अज्ञात उपद्रवियों पर FIR

CM योगी बोले- दंगाइयों की प्रॉपर्टी पर चलेगा बुलडोजर

कानपुर- कानपुर में हुई हिंसा के बाद योगी सरकार उपद्रवियों पर सख्त कार्रवाई कर रही है……….. रात 2 बजे यतीमखाना की सड़क पर पुलिस कमिश्नर और डीएम ने फ्लैग मार्च किया………. घरों में दबिश देकर संदिग्ध उपद्रवियों को हिरासत में लिया गया……… वहीँ हिंसा में शामिल लोगों की प्रॉपर्टी पर बुलडोजर भी चलाया जा सकता है

दरअसल, सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस घटना पर देर रात बुलाई गई हाई लेवल मीटिंग के बाद यह आदेश दिया है…….3 जून को बेकनगंज इलाके के यतीमखाना बाजार में जुमे की नमाज के बाद ……….करीब 1000 लोगों ने 5 घंटे तक उपद्रव किया……….. पथराव, तोड़फोड़ करते हुए दुकानों को लूट लिया गया………पुलिस को उन्हें रोकने लिए लाठीचार्ज करना पड़ा…………….दंगे के दौरान यहां से करीब 50 किमी दूर कानपुर देहात के परौंख गांव में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद मौजूद थे…….. साथ में, पीएम नरेंद्र मोदी, राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और सीएम योगी आदित्यनाथ भी थे…….. हिंसा की जांच के लिए लखनऊ से एनकाउंटर स्पेशलिस्ट IPS अजय पाल शर्मा को भेजा गया है………..शुक्रवार रात अजय पाल कानपुर पहुंच कर अफसरों के साथ बैठक की……… इलाके का भ्रमण करके पूरे मामले को समझा………देर रात तक उनकी मॉनीटरिंग में ही आरोपियों के खिलाफ एक ऑपरेशन देर रात में ही शुरू कर दिया गया……..हिंसा मामले में अब तक 3 FIR दर्ज हो चुकी हैं……… दो FIR पुलिस ने दर्ज की हैं……….. एक यतीमखाना के पास चंदेश्वर हाते में रहने वाले लोगों ने दर्ज करवाई है……… तनावपूर्ण स्थिति के बीच रात 2 बजे यतीमखाना की सड़क पर पुलिस कमिश्नर और डीएम ने फ्लैग मार्च किया…….. पुलिस कमिश्नर विजय मीणा ने बताया कि अब तक 36 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है……….. जो फोटो और वीडियो मिले हैं उसके जरिए उपद्रवियों की पहचान की जा रही है……….. 45 नामजद और 1000 अज्ञात लोगों पर केस दर्ज किया गया है……..पुलिस का कहना है कि कानपुर हिंसा में कई नेता जांच के दायरे में हैं……… नेताओं ने सियासी लाभ लेने की साजिश रची थी……..घटना के 24 घंटे पहले की कॉल डिटेल्स कुछ नेताओं की पुलिस खंगाल रही है……….बुलडोजर की कार्रवाई के खौफ से गिरफ्तार लोग हिंसा के पीछे की वजह कबूल रहे हैं

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button