स्वास्थ्य

जानें गठिया क्या है, इसके लक्षण, कारण और इलाज क्या है?

मानसिक स्वास्थ्य मौजूदा समय की प्राथमिकता भी है और इससे संबंधित विकार बड़ी चुनौती भी। पिछले कुछ वर्षों में मनोरोगों के मामलों में तेजी से उछाल देखा गया है

इलेक्ट्रोकन्वल्सिव थेरेपी के बारे में जानिए

गंभीर मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं के इलाज के लिए जिस प्रभावी उपचार विधि की बात की जा रही है वह है- ईसीटी थेरेपी। ईसीटी यानी कि इलेक्ट्रोकन्वल्सिव थेरेपी को लंबे समय से गंभीर अवसाद और बाइपोलर डिसऑर्डर के प्रभावी इलाज के तौर पर प्रयोग में लाया जाता रहा है। ईसीटी के दौरान एनेस्थीसिया के साथ रोगी के मस्तिष्क में इलेक्ट्रिकल स्टिमुलेशन यानी कि  विद्युत उत्तेजना दी जाती है।

ईसीटी को लेकर डर क्यों है?

डॉ ओमप्रकाश कहते हैं, मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं को लेकर समाज में बड़ी स्टिग्मा है। ईसीटी जैसे प्रभावी उपचार माध्यमों के प्रयोग में आती कमी के लिए भी इसी स्टिग्मा को एक कारण माना जा सकता है।

ईसीटी कैसे दी जाती है?

जिस तरह से फिल्मों में दिखाया जाता है, उससे बिल्कुल अलग ईसीटी प्रशिक्षित विशेषज्ञों की निगरानी में रोगी को एनस्थीसिया देकर की जाने वाली प्रक्रिया है, जिसमें बहुत निम्न स्तर का एहसास होता है। ईसीटी उपचार के पहले रोगी की कई स्तर पर जांच की जाती है। उपचार के समय मरीज को जनरल एनस्थीसिया दी जाती है। खोपड़ी पर मसल रिलैक्सेंट और  इलेक्ट्रोड लगाए जाते हैं, जिसके माध्यम से  रोगी का मस्तिष्क उत्तेजित होता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button